Hindi News »Jharkhand »Noamundi» वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण बारिश के साथ गिरे ओले, 70-75 किमी/घंटे की रफ्तार से चली हवा

वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण बारिश के साथ गिरे ओले, 70-75 किमी/घंटे की रफ्तार से चली हवा

भास्कर न्यूज| चाईबासा/ जगन्नाथपुर वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण चाईबासा व इसके आसपास रविवार अपराह्न 3.30 बजे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:00 AM IST

वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण बारिश के साथ गिरे ओले, 70-75 किमी/घंटे की रफ्तार से चली हवा
भास्कर न्यूज| चाईबासा/ जगन्नाथपुर

वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण चाईबासा व इसके आसपास रविवार अपराह्न 3.30 बजे अंधेरा छाया रहा। दो घंटे तक ओले के साथ झमाझम बारिश होती रही। अपराह्न 2 बजे से तेज हवा के साथ आकश में बादल मंडराने लगे। एक घंटे बाद ही रात सा नजारा हो गया। काले बादल ने पूरे आसमान को ढक लिया। शहर की मुख्य सड़क वीरान हो गई। वहीं तेज हवा की वजह से कहीं होर्डिंग फटे तो कहीं कुर्सियां उड़ गईं। कहीं बिजली के खंभे गिरे तो कहीं तार। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों मेें आधा दर्जन से ज्यादा पेड़ों के गिरने की खबर है। जानकारी के अनुसार, करीब 70 से 75 किमी की रफ्तार से चली हवा के कारण मेरीटोला में बिजली के खंभे गिर गए। जबकि मेरीटोला व गांधीटोला में तार गिर गए। नतीजतन लाइन बंद कर देना पड़ा। वहीं अपराह्न 3 बजे से लेकर देर शाम तक शहर में विद्युत आपूर्ति ठप रही।

मौसम विभाग के रांची केंद्र की माने तो अगले दो दिनों तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। इस दौरान धूप भी खिलेगी। लेकिन बीच बीच में बादल छाएंगे और तेज हवा चलेगी। राज्य के कई हिस्सा में गर्जन के साथ बारिश भी होने की संभावना विभाग ने व्यक्त की है। विभाग की माने तो मौसम में आए इस बदलाव की मुख्य वजह वेस्टर्न डिस्टरबेंस है। जिसकी वजह से पूरे पूर्वोत्तर भारत में गर्जन व तेज हवा के साथ बारिश हो रही है।

अगले दो दिनों तक ऐसा ही रहेगा मौसम का मिजाज, तेज हवा के साथ होगी बारिश

किसानों को अच्छी फसल की उम्मीद

मार्च माह के अंतिम दिन व अप्रैल माह के प्रथम दिन हुई बारिश से किसान खुश हैं। किसानों का मानना है कि मार्च के अंत व अप्रैल की शुरुआती दिनों में यदि बारिश होती है तो उस साल फसल अच्छी होने के संकेत हैं। खेती के जानकारों की मानें तो बारिश की वजह से खेतों में पड़े गेहूं की फसल को नुकसान होगा। वहीं तीसी की फसलों को भी बारिश की वजह से नुकसान होगा। ज्यादातर किसानों के खेतों में गेहूं पड़े होने के कारण ऐसे किसानों की चिंता बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस वर्ष अच्छी बारिश का पूर्वानुमान है। आगामी चार दिनों मे 13 एम एम बारिश होगी। तापमान में उतार चढ़ाव रहेगा। अधिकतम तापमान 30-32 डिग्री सेल्सियस रहेगा। न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस रहेगा। आकाश में छिटपुट बादल रहेंगे। हवा की अधिकतम गति 7-15 किमी प्रति घंटा रहेगी।

नोवामुंडी के साप्ताहिक हाट में पसरा रहा सन्नाटा

नोवामुंडी/चंपुवा। दोपहर करीब 2 बजे से जोरदार आंधी और बादलों की गड़गड़ाहट के बाद बारिश शुरू हो गई। बादल की गड़गड़ाहट सुनकर विद्युत विभाग द्वारा बिजली आपूर्ति रोक दी गई। चारों ओर अंधेरा छा गया। बारिश के कारण ग्राहक बाजार से नदारद हो गए और दूर दराज से आए दुकानदारों, साग-सब्जी एवं वनोपज बिक्री करने आए ग्रामीण भी अपने-अपने गांव घर लौट गए।

पिछले दो दिनों से मौसम में बदलाव, गर्मी से मिली राहत

लगातार दो दिन से मौसम में आए बदलाव ने वातावरण खुशनुमा कर दिया। मार्च में ही लोग गर्मी से परेशान थे। गर्मी के दस्तक देते ही लोग गर्म हवा की थपेड़ों से परेशान होने लगे थे। इन दिनों ठंडी हवा व बूंदाबांदी से मौसम सुहावना हो गया। जगन्नाथपुर में वैसे तो शुक्रवार से ही शाम का वातावरण में थोड़ी ठंडक आयी, लेकिन रविवार करीब डेढ़ बजे से ठंडी बयार जोर-जोर से बहना शुरू हो गई। आकाश में बादल गरजने लगे। वहीं रविवार को 3 तीन बजते ही बूंदाबांदी के साथ ओले गिरे। इस दौरान वाहन लाइट जलाकर चलें। जगह-जगह जलजमाव ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Noamundi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×