--Advertisement--

अगरबत्ती बनाने का निशुल्क प्रशिक्षण

केंद्र व राज्य सरकार महिलाओं को प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार से जोड़ रही है। इसमें महिलाओं को आत्मनिर्भर बन रहे हैं।...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
केंद्र व राज्य सरकार महिलाओं को प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार से जोड़ रही है। इसमें महिलाओं को आत्मनिर्भर बन रहे हैं। ये बातें अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार संरक्षण संगठन के झारखंड प्रदेश प्रभारी सचिव राजेंद्र सिंह ने कही। वह अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन के तत्वावधान में पारदर्शी गैर सरकारी संगठन द्वारा शनिवार को नरसिंहपुर पथरा पंचायत सचिवालय में अगरबत्ती बनाने के लिए महिलाओं को दी जाने वाली प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे।

इसके पूर्व प्रदेश प्रभारी कामेश्वर साहू, सुनैना देवी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। मौके पर सुनैना देवी ने कहा कि स्वरोजगार से जोड़ने का इच्छा महिलाओं व छात्राओं से अधिक महिलाओं को अगरबत्ती बनाने के अलावा अन्य तरीके का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पसंदीदा क्षेत्र में प्रशिक्षण हासिल करें और रोजगार से जुड़े। वक्ताओं ने कहा कि महिलाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें घर पर ही रोजगार दी जाएगी। कंपनी के अधिकारी खुद घर जा कर सामान की खरीद बिक्री करेंगे। जिला अध्यक्ष बैजू सिंह ने कहा कि सभी महिला को स्वरोजगार से जोड़ना मेरा लक्ष्य है। मौके पर सचिन सिंह, विकास चौरसिया, जिला पार्षद चैनपुर उत्तरी रितेश कुमार, पलामू जिला सचिव युवा पूर्व उप मुखिया रविंद्र चौरसिया, अखिलेश सिंह समेत काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

प्रशिक्षण लेती महिलाएं।