कोयला कारोबार के वर्चस्व की लड़ाई में फलफूल रहा है अमन श्रीवास्तव गिरोह

Palamu News - जिले के चंदवा व बालूमाथ थाना क्षेत्र के इलाकों में सक्रिय अमन श्रीवास्तव आपराधिक गिरोह के 11 सदस्यों की गिरफ्तारी...

Jan 16, 2020, 07:20 AM IST
Latehar News - aman srivastava gang is booming in the battle of coal business supremacy
जिले के चंदवा व बालूमाथ थाना क्षेत्र के इलाकों में सक्रिय अमन श्रीवास्तव आपराधिक गिरोह के 11 सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि इस गिरोह ने अपना पांव जमा लिया है। एक पुलिस पदाधिकारी ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में दो-तीन को छोड़कर शेष गिरोह के सी या डी टीम के सदस्य हैं। जिन्होंने अब तक अमन श्रीवास्तव का चेहरा तक नहीं देखा है। चंद पैसे के लालच में यह युवा वर्ग अपराध के दलदल में प्रवेश कर रहा है। गिरोह के लिए काम करते हुए लड़के किसी को फोन पर धमकी देना व रंगदारी मांगने का काम तो करते ही हैं। रंगदारी की रकम नहीं मिलने पर संबंधित कोयला व्यवसायी या ठेकेदार पर गोली चलाने में भी परहेज नहीं करते। यह कहा जाता है कि जहां भी कोयला का कारोबार होता है। वहां आपराधिक गिरोह सक्रिय हो जाता है। लातेहार जिले के बालूमाथ थाना क्षेत्र में इस गिरोह का पदार्पण दिसंबर, 2018 के आसपास हुआ था। नक्सली व उग्रवादी गतिविधि पर अंकुश लगने के बाद यह गिरोह सक्रिय हुआ। अगर गिरोह ने इस क्षेत्र में प्रवेश कर पांव जमाने का काम किया तो इसके लिए कतिपय कोयला कारोबारी भी कम जिम्मेवार नहीं है। बालूमाथ थाना क्षेत्र में पडऩेवाले बालूमाथ, फुलबसिया, कुसमाही समेत अन्य रेलवे कोयला साइडिंग पर अपना कब्जा जमाने व वर्चस्व स्थापित करने की नीयत से कतिपय कोयला कारोबारियों ने इस गिरोह को आमंत्रित किया है।

बताया तो यह भी जाता है कि कुछ कोयला कारोबारी क्षेत्र में सक्रिय उग्रवादी संगठन के भी संपर्क में हैं। इस कारण ऐसे कोयला कारोबारी निडर होकर वैध व अवैध कारोबार में जमे हुए हैं, लेकिन जब गिरोह द्वारा सभी कोयला कारोबारी से रंगदारी की मांग की जाने लगी तो हत्या व हमला का दौर शुरू हुआ तो उनकी बेचैनी बढऩे लगी। आपराधिक गतिविधि तेज होने पर पुलिस अधीक्षक प्रशांत आनंद ने टीम गठित कर इनपर लगाम कसने का काम प्रारंभ किया है। पूरे मामले की जांच कर दी जाए तो कतिपय कारोबारियों की गर्दन भी फंस सकती है। अगर उस पुलिस पदाधिकारी की बात को तनिक भी सच मान लिया जाए तो यह स्पष्ट है कि दोनों थाना क्षेत्र के इलाके में अपराधियों की गतिविधि है। पुलिस अधीक्षक प्रशांत आनंद ने रांची के प्रेस वार्ता में अमन श्रीवास्तव गिरोह का संबंध उग्रवादी संगठन से होने का संकेत दिया है, जो इस क्षेत्र के लिए वाकई चिंता का विषय है। अमन गिरोह के अलावे सुजीत सिन्हा गिरोह की धमक भी कोयला कारोबारी को तक पहुंच चुकी है। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि चंदवा व बालूमाथ थाना क्षेत्र अभी अपराधियों के निशाने पर है। पुलिस ने गिरफ्तार अपराधियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने भी बात कही है। इसके बाद कई चौंकानेवाले तथ्य भी सामने आने की उम्मीद है।

X
Latehar News - aman srivastava gang is booming in the battle of coal business supremacy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना