पाॅली हाउस में करें ऑफ सीजन सब्जी की खेती, होगा अधिक लाभ

Palamu News - पाॅली हाउस में किसान ऑन सीजन या ऑफ सीजन सब्जी की खेती कर अधिक लाभ कमा सकते है। पोली हाउस में लगी सब्जी की फसल पर ना तो...

Nov 11, 2019, 07:10 AM IST
पाॅली हाउस में किसान ऑन सीजन या ऑफ सीजन सब्जी की खेती कर अधिक लाभ कमा सकते है। पोली हाउस में लगी सब्जी की फसल पर ना तो कीट-व्याधि का प्रकोप नहीं होता है, ना ही फसल में किसी प्रकार का रोग जल्द लगता है। क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र, चियांकी में पाॅली हाउस में ऑफ सीजन सब्जी का सफल उत्पादन किया जा रहा है। इस बार पाॅली हाउस में खीरा की किस्म फाडिया एफ-1 को लगाया गया है। 4 कट्‌ठा में बने पोली हाउस में लगे खीरा की फसल की सिंचाई ड्रिप इरीगेशन से सप्ताह में दो बार की जाती है। इसके साथ ही पानी में घुलनशील उर्वरक एनपीके 19:19:19 को दिया जाता है।

वैज्ञानिक प्रमोद कुमार बताते है कि पोली हाउस में लगे खीरा की फसल में अलग-अलग उर्वरक का अलग-अलग डोज दिया गया है। उसका मूल्यांकन किया जाएगा कि किस उर्वरक के कितना डोज में कितना खीरा का उत्पादन हुआ, उसके आधार पर उक्त उर्वरक के उक्त डोज को अनुशंसित किया जाएगा ताकि उसका लाभ किसानों को मिल सके। उन्होंने कहा कि पोली हाउस में लगे खीरा की फसल से सप्ताह में दो बार 2-2 क्विंटल खीरा की तुड़ाई होती है। उन्होंने कहा कि पलामू में समान्यत: खीरा की खेती गर्मी व बरसात के मौसम में होती है। जाड़े में तापमान कम रहने के कारण खुले में इसकी खेती संभव नहीं है। ऐसे में किसान पोली हाउस में खीरा की सफलता से खेती कर सकते है। इससे किसानों को खीरा बेचने में ज्यादा मशक्कत करने की जरूरत नहीं पड़ती है और अधिक मूल्य भी मिलता है। इसके साथ ही पोली हाउस में लगी खीरा की फसल पर कीड़े-मकोड़े का प्रकोप नहीं होता है, ना ही फसल में किसी प्रकार का रोग जल्द लगता है। उन्होंने कहा कि वैसे भी खीरा का रोगरोधी हाइब्रिड किस्म उपलब्ध रहने से रोग नहीं लगते है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना