बायोमैट्रिक अटेंडेंस नहीं बनाने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई करने का निर्देश

Palamu News - विभागीय सचिव ने वीसी कर जिला शिक्षा पदाधिकारी तथा जला शिक्षा अधीक्षक को बायोमैट्रिक अटेंडेंस नहीं बनाने वाले...

Dec 04, 2019, 09:35 AM IST
विभागीय सचिव ने वीसी कर जिला शिक्षा पदाधिकारी तथा जला शिक्षा अधीक्षक को बायोमैट्रिक अटेंडेंस नहीं बनाने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। विभागीय सचिव ने यह निर्देशित किया है कि इतने दिनो तंक टालमटोल की नीति पर काम चलती रही, इसकी जिम्मेवारी डीईओ व डीएसई जैसे पदाधिकारियों की भी है।

ऐसे में सभी शिक्षकों के लिए बायोमैट्रिक पद्धति से उपस्थिति दर्ज कराना सुनिश्चित कराया जाये। उल्लेखनीय है कि स्कूल में टैबी दिये जाने के बाद भी बायोमैट्रिक अटेंडेंस बनाने का प्रतिशत करीब अाधा है। इस बीच चुनावी आचार संहिता के दौरान सराकर द्वारा दिये गये टेैब से हाजिरी बनाने की मनाही हो जाने पर शिक्षकों ने अटेंंडेंस के लिए नेट डाटा पर पैसा खर्च होने की बात उठायी। जिसके समाधान के लिए राज्य परियोजना निदेशक ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी तथा जिला शिक्षा अधीक्षक को बायोमेट्रिक पद्धति से उपस्थिति दर्ज कराने के लिए शिक्षकों को इंटरनेट पर खर्च होने वाले राशि का भुगतान करने का भी निर्णय लिया। डीईओ तथा डीएसई को भेजे गए पत्र में यह कहा गया कि बायोमेट्रिक पद्धति से उपस्थिति दर्ज कराने तथा ई-विद्यावाहिनी के अन्य कार्यों के लिए इंटरनेट के प्रयोग पर प्रत्येक विद्यालय को 300 रूपये की राशि मुहैया कराई जाएगी।

इसके तहत स्कूल का प्रधानाध्यापक अथवा प्रधान सहायक शिक्षक या फिर किसी भी एक शिक्षक को विद्यालय विकास कोष से 300 रूपये की राशि उपलब्ध कराई जा सकेगी। यदि प्रधानाध्यापक के पास स्मार्ट फोन है तो यह राशि उन्हें अथवा फिर सहायक प्रधान शिक्षक को यह राशि दी जायेगी। लेकिन यदि सहायक प्रधान शिक्षक के पास भी स्मार्ट फोन नहीं होगा तब यह राशि किसी भी एक शिक्षक को दिया जा सकेगा। जिसके माध्यम से प्रतिदिन बायोमेट्रिक पद्धति से उपस्थिति दर्ज कराने का कार्य किया जायेगा। इस पत्र में भी यह निर्देश दिया गया था कि डीईओ व डीएसई निर्देश पर अमल कराना सुनिश्चित करें। ताकि शत प्रतिशत बायोमेट्रिक उपस्थिति दर्ज कराने के लक्ष्य को पूरा किया जा सके।

पत्र में यह भी कहा गया था कि शत-प्रतिशत उपस्थिति दर्ज कराने तथा ई विद्या वाहिनी के माध्यम से सूचना उपलब्ध कराने के मामले में अद्यतन रहने वाले विद्यालय, प्रखंड व जिला को सम्मानित किया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना