पैगंबर हमें देते हैं अमन-चैन, शांति और भाईचारे का संदेश : महताब

Palamu News - शहर के दारुल उलूम शमसिया, डुरुआ ने ईद मिलादुन्नबी पर शोभायात्रा निकाली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।...

Nov 11, 2019, 07:06 AM IST
शहर के दारुल उलूम शमसिया, डुरुआ ने ईद मिलादुन्नबी पर शोभायात्रा निकाली। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। शोभायात्रा में शामिल लोग नार-ए-तकबीर, अल्लाह ओ अकबर, मदीना शरीफ जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। अकीदतमंद नबी की शान में नातिया कलाम, दरूद व सलाम के नजराने और नबी की शान में तकरीर भी पेश करते चल रहे थे।

काफिले में दरुद व सलाम के नजराने भी पेश किए गए। इसमें ईदगाह व मदरसे के उलमा-ए-इकराम के अलावे टोले व मोहल्ले के लोग शामिल थे। सभी पैगंबर इस्लाम की आमद की खुशी में दरूद व सलाम के नजराने पेश करते हुए काफिले में चल रहे थे। मौके पर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जिला उपाध्यक्ष महताब आलम ने कहा कि विभिन्न धर्मों के विभिन्न पैगंबर हैं। जो हमें अमन-चैन, शांति व भाई चारे का संदेश देते हैं। वहीं संदेश हमें हजरत मोहम्मद पैगंबर साहब ने दिया है। उनके बताए मार्गों पर चलने, उसे जीवन में उतारने व उनके पद चिह्नों पर चलने का पैगाम हमें पूरे हिंदुस्तान में देना है। अकीदतमंदों का ये काफिला शहर के शहीद वीरेंद्र शर्मा चौक, स्टेशन बाजार चौक, नवरंग चौक से स्टेशन कब्रिस्तान के रास्ते धोबी मोहल्ला स्टेशन बाईपास रोड होते हुए अपने घरों को लौट गए। इस अवसर पर अकीदतमंदों ने नबी-ए-पाक की अरवाह को इशाल-ए-शबाब किया। तबर्रूक तकसीम करने के बाद ईद मिलादुन्नबी का त्योहार संपन्न हुआ। इससे पहले डुरूआ गुलाब बाग में दारुल उलूम शमसिया ने शनिवार देर शाम जश्न-ए-ईद मिलादुन्नबी का आयोजन किया। जिसमें सदर आफताब आलम खान, सेक्रेटरी मारूफ अहमद, शमीम, रबानी हुसैन, सिराज, मुजफ्फर, आरिफ, नसीम, हाजी आशिकउल्लाह साबह, सुलेमान, याकूब, अब्दुल गफ्फार समेत बड़ी संख्या में अकीदतमंद शामिल हुए।

लातेहार के डुरुआ क्षेत्र में निकाले गए शोभायात्रा में शामिल लोग

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना