अन्नप्रासन्न व गोद भराई रस्म के साथ सेविका समूह पुरस्कृत

Palamu News - जिला समाज कल्याण पदाधिकारी के निर्देश पर शनिवार को बाल विकास परियोजना हैदरनगर में प्रखंड स्तरीय जागरुकता रैली,...

Bhaskar News Network

Aug 04, 2019, 07:00 AM IST
Haidarnagar News - servicia group rewarded with food and baby shower rituals
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी के निर्देश पर शनिवार को बाल विकास परियोजना हैदरनगर में प्रखंड स्तरीय जागरुकता रैली, कुकिंग फेस्टीवल व सीबीई के तहत गोद भराई व अन्नप्रासन्न का आयोजन किया गया। जिसमें रेडी टू इट से निर्मित विभिन्न व्यंजन व पोषाहार की प्रदर्शनी लगाई गई। प्रदर्शनी में सेक्टर 2 के सेविका समूह को प्रथम, तीन को द्वितीय व सेक्टर एक को तृतीय पुरस्कार स्वरुप 2000, 1500 व 500 रुपए प्रदान किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रखंड 20 सूत्री अध्यक्ष अजय जायसवाल ने सेविकाओं को निष्ठा व ईमानदारी पूर्वक दायित्व निभाने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि गर्भवती, धातृ व बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्रों पर स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी जरूरतें मुहैया कराई जाती है।

बेटियों के लिए प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना व मुख्य मंत्री सुकन्या योजना वरदान से कम नहीं है। मौके पर आपूर्ति पदाधिकारी संजीव कुमार, बीईईओ रामनरेश राम, वैदिक सोसायटी के समन्वयक अनिल कुमार, दशरथ प्रसाद, महिला पर्यवेक्षिका निशी किरण, कुमारी शंाति ठाकुर, सहायक संतोष कुमार ठाकुर, सहायक रुंजय कुमार उपस्थित थे।

प्रखंड कार्यालय में आयोजित कुकिंग फेस्टीवल में अतिथि व अन्य।

बरवाडीह : मां के दूध से शिशुओं में बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता : माया

बेतला |बरवाडीह प्रखंड के बेतला पंचायत अंतर्गत कुटमू मोड़ आंगनबाड़ी केंद्र में विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर शनिवार को गोदभराई व अन्नप्रासन्न कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पंचायत की मुखिया माया देवी उपस्थित थी। कार्यक्रम में मौजूद सेविका, सहायिका, सहिया को संबोधित करते हुए मुखिया माया देवी ने मां का दूध शिशुओं के लिए अमृत के समान होता है। जन्म के साथ मां का दूध मिलने से शिशु के शरीर के अंदर रोगों से लडऩे की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, जिससे वे स्वस्थ रहते हैं।

उन्होंने महिलाओं को बताया कि बच्चों को दूध पिलाने से मां व शिशुओं के बीच का प्रेम प्रगाढ़ होता है तथा मां में स्तन कैंसर होने का खतरा काफी कम हो जाता है। उन्होंने कहा कि प्राय: ऐसा देखा जाता है कि वर्तमान परिवेश में मां अपने शिशुओं को स्तनपान नहीं कराना चाहती है, जिसका प्रतिफल होता है कि उनके बच्चे काफी कमजोर होते हैं। उन्होंने आंगनबाड़ी सेविकाओं व सहायिकाओं से नवजात शिशुओं को छह माह तक मां का दूध पिलाने के लिए जन-जन तक जागरूकता फैलाने की अपील की।

X
Haidarnagar News - servicia group rewarded with food and baby shower rituals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना