कम वजन वाले शिशु का रखिए ध्यान गोद में बच्चे को रखने से मिलेगी गर्मी

Palamu News - तीन महीने से छोटे और कम वजनी बच्चे खुद शरीर में गर्मी नहीं बना पाते हैं। इन बच्चों में ब्राउन फैट नहीं होने की वजह...

Jan 08, 2020, 06:50 AM IST
Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth
तीन महीने से छोटे और कम वजनी बच्चे खुद शरीर में गर्मी नहीं बना पाते हैं। इन बच्चों में ब्राउन फैट नहीं होने की वजह से ये एनर्जी बनाने में सक्षम नहीं होते हैं। इसलिए इन्हें विशेष देखभाल की जरूरत होती है। इन प्री-मैच्योर बच्चों का वजन भी सामान्यतः: ढाई से तीन किलोग्राम होता है। इन्हें 28-30 डिग्री तापमान में रखें। या फिर मां अपने शरीर के जरिए उसे गर्माहट दें।

मां उसे विशेष रूप से कंगारू केयर दें। बच्चे के लिए कंगारू जैसे पाउच बनाएं। अपने और बच्चे के कपड़े हटाएं। बच्चे को खुद से चिपकाएं। साथ ही उसे ब्रेस्ट फीडिंग भी करवाएं। इससे बच्चे को गर्माहट मिलेगी। इसके अलावा उन्हें विशेष तरह से कपड़े में लपेटा जा सकता है। इसके लिए बड़े साइज का कपड़ा लें। कपड़े के चारों कोनों का तिकोना बना लें। बीच में उसे लिटाएं। एक तरफ से एक फोल्ड डालें। फिर एक फोल्ड पैर के नीचे से डालें। तीसरे फोल्ड को उसके ऊपर डालें। चौथे फोल्ड को सिर के ऊपर डालें। इससे बच्चा पूरी तरह से कवर रहेगा। गर्माहट मिलेगी। साथ ही बाजार में मौजूद जिप लोक में उसे डालने से भी वह गर्म रहेगा।

नाक बंद होने पर क्या करें

नाक में ड्रॉप डालें। न्यूकस सकर की मदद से भी नाक साफ कर सकते हैं। इससे बच्चे को सांस लेने में तकलीफ नहीं होगी। निमोनिया से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाएं। तीन साल से छोटे बच्चे को हर साल फ्लू का टीका लगवाएं। ताकि जानलेवा बीमारी से बचाव हो पाएं। जुकाम, खांसी,बुखार होने पर ज्यादा पानी पिलाएं। ताकि बलगम निकल सके। ठंडी हवा में नहीं ले जाएं। नाक साफ रखें। जिससे उसे सांस लेने में परेशानी नहीं हो पाएं।

डॉ. गोपा चौधरी

गायनोकोलॉजिस्ट

रांची

कैसे पहचाने बच्चा ठंडा हो रहा है

बच्चे के हाथ और पैर पकड़े। बच्चे के पैर ठंडे हो रहे हैं। यानी उसका शरीर ठंडा है। उसे गर्माहट की जरूरत है। दूध पीने के बावजूद भी वजन नहीं बढ़ रहा है। ऐसा बच्चे को गर्माहट नहीं मिलने के कारण भी होता है। इसलिए हमेशा बच्चे को गर्म रखें। घर के बाहर नहीं ले जाएं। बार-बार एक से दूसरे कमरे में लेकर नहीं जाएं। एक ही गर्म कमरे में रखें। सिगड़ी नहीं जलाएं। इससे कार्बन मोनो-ऑक्साइड बनने की संभावना बढ़ जाती है। इसके बजाय बच्चे के दोनों तरफ गर्म पानी की बाेतल लगाएंं। उसे रोशनी व धूप वाले कमरे में रखें। जिससे तापमान बढा रहने से कमरा गर्म रहेगा।

स्कूल गोइंग बच्चों को ठंड से कैसे बचाएं

ठंडे में ऊनी जुराब, जूते और दो से तीन वार्मर पहनाकर रखें। इससे उन्हें ठंड नहीं लगेगी। विटामिन-ए के लिए गाजर ज्यादा खिलाएं। विटामिन-डी का सेवन करवाएं। 800 यूनिट प्रतिदिन यह विटामिन दें। अंडे खिलाएं। यह बहुत ताकतवर होता है।

निमोनिया कैसे पहचानें

अगर बच्चे की सांस भर रही है। जन्म से दो महीने तक के बच्चे में 60 बार से अधिक सांस है या एक साल के बच्चे को 40 बार से अधिक सांस चल रही हो तो यह निमोनिया का लक्षण हो सकता है। दो महीने से अधिक के बच्चे में 50 बार सांस चल रही हो या मुंह से घरघर की आवाज आ रही है, तो यह भी निमोनिया का लक्षण हो सकता है।

Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth
Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth
X
Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth
Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth
Garu News - take care of a low weight baby keeping the baby in your lap will get warmth

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना