जिसके रक्षक राम, उसे कोई मार नहीं सकता : साध्वी ज्योति

Palamu News - प्रवचनकर्ता साध्वी ज्याेति। मेदिनीनगर | तुलसी मानस मंदिर परिसर में चल रहे श्रीराम चरित मानस नवाह्न परायण पाठ...

Nov 11, 2019, 07:10 AM IST
प्रवचनकर्ता साध्वी ज्याेति।

मेदिनीनगर | तुलसी मानस मंदिर परिसर में चल रहे श्रीराम चरित मानस नवाह्न परायण पाठ में श्रीराम कथा के क्रम में शुक्रवार की रात प्रवचनकर्ताओं ने विभिन्न प्रसंगों पर चर्चां की। हनुमान और रावण के बीच वार्तालाप के प्रसंग पर संगीतमय प्रवचन करते हुए साध्वी ज्योति ने कहा कि जिसके रक्षक राम हैं, उसे कोई मार नहीं सकता। हनुमान ने रावण को समझाते हुए कहा कि हे रावण तुम प्रभु की चरणों में जाकर क्षमा मांग ले, वे तुम्हें माफ कर देंगे। वो दयालु हैं, कृ़पा निधान हैं। तुमने तो बस एक भूल की है। तुम माता सीता को उन्हें सौंप दो। तुम्हारी भूल को वे तुम्हारी नादानी मानकर क्षमा कर देंगे। लेकिन इस पर रावण ने जब हनुमान को कहा कि लगता है तेरी मौत आयी है, तब महावीर ने उसे अपना स्वरूप दिखाया और फिर समझाया कि तुम प्रभु राम को नहीं जानते। जब एक अदना सा उनका भक्त तुम्हे पराजित कर सकता है, ताे प्रभु के सामने तुम्हारी दशा क्या होगी। इस अवसर पर श्रीराम चरित मानस नवाह्न परायण पाठ महायज्ञ समिति के सचिव शिवनाथ अग्रवाल सहित अन्य पदधरी तथा शहर के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना