• Home
  • Jharkhand News
  • Pandu
  • झंडा उखाड़ने पर पांडू में तनाव, पांच घंटे जाम
--Advertisement--

झंडा उखाड़ने पर पांडू में तनाव, पांच घंटे जाम

जाम स्थल पर लोगों को समझाते स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चन्दंवशी। पांडू | मुसीखाप गांव में महावीरी झंडे को पांडू...

Danik Bhaskar | Mar 25, 2018, 03:20 AM IST
जाम स्थल पर लोगों को समझाते स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चन्दंवशी।

पांडू | मुसीखाप गांव में महावीरी झंडे को पांडू पुलिस द्वारा कबाड़ने से तनाव उत्पन्न हो गया। इससे नाराज ग्रामीणों ने शनिवार की सुबह 9 बजे से पांडू-कजरू मुख्य पथ को जाम कर दिया। वहीं पांडू बाजार भी पूर्णतः पांच घंटे तक बंद रही। मौके पर पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी को भी जाम का सामना करना पड़ा।

मंत्री चंद्रवंशी ने भी जामकर्ताओं को समझाने का प्रयास किया लेकिन वे भी विफल साबित हुए। अंत में वह पीछे मुड़कर करमडीह गेट होते हुए प्रखंड कार्यालय में जाकर बैठ गए। जाम हटने के बाद मंत्री चंद्रवंशी मुख्य मार्ग से कजरू कला के रामनवमी मैदान पहुंचे एवं भगवा झंडा दिखाकर रामनवमी जुलूस को रवाना किया। जाम स्थल पर मंत्री को पहुंचते ही लोगों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद, थाना प्रभारी को बर्खास्त करो आदि नारेबाजी की। इस मौके पर पहुंचे डीएसपी सुरजीत कुमार, बीडीओ राकेश कुमार गोप, सिंटू सिंह, मुखिया अरविंद सिंह एवं बजरंग दल के पुष्प रंजन ने जामकर्ताओं से वार्ता की। इस बात पर जाम खत्म करते हुए सभी मुसीखाप गांव पहुंचे एवं महावीरी झंडे को गाड़ा गया। इस मौके पर डीएसपी सुरजीत कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर डीएन रजक, बीडीओ राकेश कुमार गोप, प्रमुख सरोजा देवी, मुखिया अरविंद सिंह, सिंटू सिंह, बजरंग दल के पुष्प रंजन, डॉ मुस्लिम अंसारी, नैयर रज्जा, राम वेलास सिंह, शंभूशरण सिंह, मुखिया दिनेश रवि आदि लोग उपस्थित थे।

क्या था मामला

पांडू के मुसीखाप गांव में कर्बला के पास पहाड़ी है। वहीं बरगद के पेड़ के पास ग्रामीणों ने दो दिनों पहले महावीरी झंडे को लगाया गया था। इसे लेकर दूसरे समुदाय के लोगों ने नाराजगी जताते हुए थाना को आवेदन दिया था। इस पर कार्रवाई करते हुए उस स्थान से पांडू पुलिस ने झंडे को कबाड़ दिया। इससे लोगों में थाना प्रभारी के प्रति नाराजगी थी। उसी बात को लेकर मामला गंभीर हो गया।शनिवार की सुबह में पांडू कजरू कला मुख्य पथ को ग्रामीणों ने जाम कर दिया। इस बात को लेकर पांडू बाजार भी पूर्णतः बंद रहा। समझौते के बाद जाम को हटाया गया।