--Advertisement--

कागज पर डोभा दिखाकर निकाल ली राशि

पाटन | प्रखंड के कांकेकला गांव के आधा दर्जन से अधिक लोगों ने डीसी, डीडीसी सहित बीडीओ पाटन को आवेदन देकर कागजों पर...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 PM IST
कागज पर डोभा दिखाकर निकाल ली राशि
पाटन | प्रखंड के कांकेकला गांव के आधा दर्जन से अधिक लोगों ने डीसी, डीडीसी सहित बीडीओ पाटन को आवेदन देकर कागजों पर हुए विकास कार्यों की जांच की मांग की है। रणजीत तिवारी, चंद्रकिशोर पांडेय, गुलबहार अंसारी आदि ने हस्ताक्षर युक्त आवेदन के साथ मनरेगा सामाजिक अंकेक्षण प्रतिवेदन देते हुए कहा है कि अंकेक्षण के भौतिक सत्यापन के बाद विनय भुइया खेत में डोभा-योजना संख्या 63102, पारस पांडेय की डोभा योजना सं. 62486 तथा विनय मेहता की डोभा योजना स. 62722 धरातल पर नहीं पाया गया, जबकि इन तीनों के डोभा को कागजों पर खुदा दिखाकर क्रमशः अठारह हजार, बीस हजार तथा सोलह हजार कुल 54 हजार राशि निकाल लिए गए। सामाजिक अंकेक्षण के खुलासा के उपरांत जेसीबी मशीन से बिनय भुइयां तथा पारस पांडेय की डोभा खुदाई की गई है, जबकि बिनय मेहता का डोभा अभी तक कागजों पर है। किसी भी डोभा में मनरेगा मजदूर नहीं लगे हैं। आवेदन में योजना संख्या 3/2014-15 के बारे में बताते हुए कहा गया कि कर्बला के पास चबूतरा निर्माण के नाम पर 29800 राशि निकाली गई है। लेकिन चबूतरा की निर्माण हुआ ही नहीं है। ग्रामीणों ने पूरे मामले की जांच की मांग की है। इस संबंध में बीडीओ सोमनाथ बनर्जी ने बताया है कि जांच हेतु आवेदन मिला है। कमेटी बनाकर जांच कराई जाएगी।

X
कागज पर डोभा दिखाकर निकाल ली राशि
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..