Hindi News »Jharkhand »Patratu» लाठी-डंडाें के साथ सड़क पर उतरे समर्थक दुकानें बंद कराई, कई वाहनों के शीशे तोड़े

लाठी-डंडाें के साथ सड़क पर उतरे समर्थक दुकानें बंद कराई, कई वाहनों के शीशे तोड़े

अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार अधिनियम 1989 में किये गए बदलाव को अविलंब वापस करने की मांग को लेकर दलित संगठन के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 03:25 AM IST

अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार अधिनियम 1989 में किये गए बदलाव को अविलंब वापस करने की मांग को लेकर दलित संगठन के भारत बंद का रामगढ़ जिले में व्यापक असर देखा गया। सुबह लगभग 7 बजे अनुसूचित जाति उत्थान परिषद और आदिवासी छात्र संघ के सदस्य लाठी-डंडा और पारंपरिक हथियार से लैस होकर सड़क पर उतरे। इस दौरान आक्रोशित बंद समर्थकों ने बाइपास फोरलेन मोड़ (पटेल चौक), सुभाष चौक, ब्लॉक चौक, नयीसराई मोड़ और कोठार चौक में सड़क पर टायर जलाकर यातायात बाधित कर दिया। जिससे सड़क के दोनों ओर लंबी वाहनों की कतार लग गई। बंद समर्थकों ने सुभाष चौक के समीप स्विफ्ट कार, ऑटो सहित कई वाहनों के शीशे तोड़ दिए। जबकि सुभाष चौक के समीप खड़े पुलिस पदाधिकारी और जवान बंद समर्थकों के आक्रोश को देखते हुए मूकदर्शक बने रहे। इधर, एसपी ए विजयालक्ष्मी ने बताया कि जिले भर में 76 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया, जिसे बाद में रिहा कर दिया गया।

वहीं बाइपास फोरलेन मोड़ पर एसडीओ अनंत कुमार, पतरातू एसडीपीओ श्रीकांत एस खोटरे, मुख्यालय डीएसपी वीरेंद्र कुमार चौधरी, इंस्पेक्टर राजेश कुमार, श्रम अधीक्षक रमेश प्रसाद सिंह सहित कई पदाधिकारियों ने बंद समर्थकों को समझा-बुझाकर लगभग 11 बजे जाम हटवाया। इसके बाद बंद समर्थक जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए गांधी चौक स्थित अंबेडकर पार्क पहुंचकर बंद समाप्ति की घोषणा की। मौके पर अनुसूचित जाति उत्थान परिषद के जिलाध्यक्ष राजेंद्र नायक, एसटी/एससी, ओबीसी राष्ट्रीय समन्यवक संजय लाल पासवान, वार्ड सदस्य चंदन मुंडा, आदिवासी छात्र संघ के छोटेलाल करमाली, सुनील मुंडा, विजय कच्छप, सुमंत महली, सुनील करमाली, शशि करमाली, रमेश रजवार, सुभाष नायक, राज महली, सिकंदर राम, अशोक पासवान, भुनेश्वर राम, केवल पासवान, सुनील मुंडा, विजय कछप, रवि नायक शामिल थे।

जिले भर में 76 बंद समर्थक गिरफ्तार, बाद में छोड़ दिए गए

एसटी-एससी एक्ट में संशोधन के खिलाफ बुलाए गए बंद के दौरान ब्लॉक चौक के समीप सड़क पर नारेबाजी करते समर्थक।

भुरकुंडा में समर्थकों ने सड़क पर जलाया टायर

छात्रों को परीक्षा केंद्र जाने से रोका : भारत बंद के दौरान बंद समर्थकों में सरकार के प्रति काफी आक्रोश देखा गया। बंद के दौरान समर्थक उत्पात मचाते हुए एक झोपड़ीनुमा चाय विक्रेता के दुकान में टंगे गुटखे सहित अन्य समान उठाकर ले गए। इससे पहले सीबीएसई के परीक्षार्थियों को भी ब्लॉक चौक के पास सेंटर तक जाने से रोक दिया। बाद में लोगों के समझाने-बुझाने के छात्रों को परीक्षा के नाम पर जाने दिया।

दुकानदारों ने स्वत: बंद की दुकानें, नहीं चले वाहन

बंद के भय से मेनरोड के दुकानदारों ने स्वत: अपनी दुकानों को बंद कर दिया। शहर के नये और पुराने बस पड़ाव और डेली मार्केट में बंद को लेकर सन्नाटा पसरा रहा। वाहनों के नहीं चलने से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। वाहनों के अभाव में जाम में फंसे यात्रियों को कई किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा।

जाम के कारण वाहनों की लगी कतार

बंद पड़ी मेन रोड की दुकानें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patratu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×