Hindi News »Jharkhand »Patratu» विद्यालयों के विलय करने के विरोध में 700 शिक्षकों ने किया धरना-प्रदर्शन

विद्यालयों के विलय करने के विरोध में 700 शिक्षकों ने किया धरना-प्रदर्शन

एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा द्वारा शनिवार को विद्यालयों को दूसरे विद्यालयों में मर्ज करने के विरोध में जिला...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 25, 2018, 03:35 AM IST

एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा द्वारा शनिवार को विद्यालयों को दूसरे विद्यालयों में मर्ज करने के विरोध में जिला मुख्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया गया। धरना कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बिनोद बिहारी महतो ने कहा कि विभाग ने 6 से 14 आयु वर्ग के 15-20 बच्चों की उपलब्धता एवं निकट विद्यालय से एक किलोमीटर की दूरी को आधार बनाकर विद्यालय की स्थापना की गई। जिसे साक्षरता दर में वृद्धि हुई, छीजन दर में कमी आई। लेकिन अब विद्यालयों के मर्जर आदेश से छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जाने से वंचित हो जाएंगे, पारा शिक्षकों ,रसोईया की भविष्य भी खतरे में पड़ गई है। सरकार मर्जर प्रक्रिया पर अविलंब रोक लगाए। इस दौरान रामगढ़, मांडू,पतरातू, गोला, दुलमी ,चितरपुर प्रखंड के पहुंचे करीब 700 पारा शिक्षकों ने मांगों के समर्थन में जोरदार नारे लगाए। धरना-प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री के नाम डीसी को पांच सूत्री मांग पत्र सौंपा गया। जिसमें पारा शिक्षकों को ईपीएफ से जोड़ने,पारा शिक्षकों के कल्याण कोष गठन करने,समान कार्य के लिए समान वेतन देने, टेट उत्तीर्ण शिक्षकों को सरकारी शिक्षक में समायोजित करने, टेट उत्तीर्ण प्रमाण पत्र की अवधि विस्तार करने, डीएलएड प्रशिक्षणरत पारा शिक्षकों से ली गई प्रशिक्षण मद की राशि वापस करने मांग शामिल है।

समाहरणालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन करते पारा शिक्षक।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patratu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×