• Hindi News
  • Jharkhand
  • Patratu
  • विजयी प्रत्याशियों के साथ आजसू छात्र संघ ने निकाला जीत का जुलूस
--Advertisement--

विजयी प्रत्याशियों के साथ आजसू छात्र संघ ने निकाला जीत का जुलूस

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2018, 03:00 PM IST

Patratu News - पीटीपीएस कॉलेज छात्र संघ चुनाव में आजसू समर्थित तीन प्रत्याशियों की शानदार जीत के बाद गुरूवार को आजसू छात्र संघ...

विजयी प्रत्याशियों के साथ आजसू छात्र संघ ने निकाला जीत का जुलूस
पीटीपीएस कॉलेज छात्र संघ चुनाव में आजसू समर्थित तीन प्रत्याशियों की शानदार जीत के बाद गुरूवार को आजसू छात्र संघ और कॉलेज के छात्रों ने जुलूस निकालकर गाजे बाजे के साथ जश्न मनाया। पीटीपीएस कॉलेज से जुलूस में शामिल छात्र पटाखे फोड़ते, नारेबाजी करते मुख्य व्यवसायिक केंद्र न्यू मार्केट से होते हुए मेन रोड पोस्ट ऑफिस के समीप शहीद निर्मल महतो स्मारक स्थल पहुंचे। यहां छात्रों ने उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। माल्यार्पण के साथ हीं राज्य के विकास में अपनी सहभागिता देने का संकल्प लिया।

इस अवसर पर आजसू पार्टी के केंद्र महासचिव रोशनलाल चौधरी ने छात्रों को इस शानदार जीत पर शुभकामनाएं दी। मौके पर विजयी प्रत्याशी में अध्यक्ष संतोष कुमार, उपाध्यक्ष संटू कुमार, सह सचिव रिंकी कुमारी, भूवनेश्वर महतो, कौलेश्वर महतो, अशोक पाठक, मुखिया राजू कुमार, गंगाधर महतो, विरेंद्र झा, राहुल रंजन, मनोज राम, टीकेश्वर महतो, शंभु यादव, सुखदेव महतो, उमेश कुमार, कैलाशचंद पटेल, बालकिशुन महतो, मुरारी पांडेय, दिलशाद रजा, जानकी मुंडा, राजीव रंजन, ब्रजेश सिंह आदि कॉलेज के सैकड़ों छात्र शामिल थे।

विजयी प्रत्याशियों के साथ जुलूस निकालकर जश्न मनाते आजसू छात्र संघ के सदस्य।

चुनाव परिणाम के बाद छात्र राजनीति में बढ़ेगी छात्राओं की सक्रियता

प्रदीप राज | रामगढ़

जिले के छह कॉलेजों के छात्र संघ चुनाव परिणाम ने राजनीतिक संकेत दे दिया है। अब, जिले के छात्र-छात्राओं की राजनीतिक दिलचस्पी बढ़ेगी। शहर को पछाड़ कर गांव की छात्राओं ने कॉलेज चुनाव में बिछाई गई राजनीतिक बिसात को अपने वोटों से प्रभावित किया। अब छात्र राजनीति में छात्राओं की सक्रियता नजर आएगी। सुदूरवर्ती गांवों से रामगढ़ कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए आने वाली छात्राओं ने इस चुनाव से राजनीतिक की दिशा तय कर दी है। वहीं, प्रत्याशियों के साथ उनके समर्थक छात्र मतदाताओं ने पिछले कई दिनों से जीत को अपने पक्ष में करने के लिए दिन रात लगे रहे। कॉलेजों में समर्थित प्रत्याशियों की जीत के साथ ही आजसू पार्टी की शहर से लेकर गांव तक राजनीतिक पकड़ और मजबूत हो गई है। जिले के सभी बड़े कॉलेजों में आजसू के समर्थित प्रत्याशियों की जीत ने जिले की राजनीतिक को नए सिरे से गर्म कर दिया है।

समर्थित प्रत्याशी को जिताने में कैंप कर डटे रहे राजनीतिक पार्टियों के दिग्गज

छात्र संघ चुनाव में राजनीतिक पार्टियां सक्रिय रही। पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता अपने छात्र संगठन के समर्थित प्रत्याशियों को जिताने के लिए मतदान खत्म होने तक डटे रहे। आजसू छात्र संघ, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, झारखंड छात्र मोर्चा, एसएफआई , झारखंड विकास छात्र मोर्चा, आदिवासी-मूलवासी छात्र मोर्चा, आदिवासी छात्र संघ के समर्थित प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। इन छात्र संगठनों के पार्टियों के नेताओं ने चुनाव जीतने के लिए अपनी पूरी सक्रियता निभाई।

1977 में हुआ था पहला छात्र संघ चुनाव

आजाद भारत में पहली बार 1977 में कॉलेजों में छात्र-छात्राओं का प्रतिनिधित्व के लिए छात्र संघ चुनाव कराया गया था। झारखंड के रांची विवि में 2007 में और विनोवा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग के कॉलेजों में 2008 में छात्र संघ चुनाव कराए गए थे। अब तक छात्र संघ के चार चुनाव हो चुके है।

X
विजयी प्रत्याशियों के साथ आजसू छात्र संघ ने निकाला जीत का जुलूस
Astrology

Recommended

Click to listen..