Hindi News »Jharkhand »Patratu» कम मजदूरी के विराेध में महिला मजदूरों ने पावर ग्रिड का काम रोका

कम मजदूरी के विराेध में महिला मजदूरों ने पावर ग्रिड का काम रोका

कटिया पावर ग्रिड निर्माण कार्य को महिला मजदूराें ने मंगलवार को बंद करा दिया। महिलाओं का कहना था कि सरकार द्वारा तय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 11, 2018, 02:55 AM IST

कटिया पावर ग्रिड निर्माण कार्य को महिला मजदूराें ने मंगलवार को बंद करा दिया। महिलाओं का कहना था कि सरकार द्वारा तय किए गए न्यूनतम मजदूरी का भुगतान जब तक नहीं किया जाता तब तक कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। मंगलवार को कटिया पंचायत की ग्रामीण महिलाओं के साथ मिलकर महिला मजदूरों ने संवेदक से न्यूनतम मजदूरी देने की मांग की। लेकिन संवेदक द्वारा कई तरह के नियमों का हवाला दिया जाने लगा।

जिसपर आक्रोशित महिलाओं और मजदूरों ने ग्रिड का कार्य बंद करा दिया। इस संबंध में महिला मजदूर बानो देवी, मोहनी देवी, पैरो देवी, सुनीता देवी, अनिता देवी, शीला देवी आदि ने बताया कि हम सभी ग्रिड निर्माण में मजदूरी का काम कर रहे हैं। लेकिन न्यूनतम मजदूरी में कटौती कर संवेदक द्वारा भुगतान किया जा रहा है। निर्माण कंपनी सीजीएल के संवेदक का यही रवैया रहा तो हम सभी कार्य का बहिष्कार करते रहेंगे।

मोर्चा ने घटना को बताया समझौते का उल्लंघन

इस संबंध में विस्थापित प्रभावित संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष आदित्य नारायण, मुख्य प्रवक्ता किशोर महतो, महासचिव भुवनेश्वर महतो और कौलेश्वर महतो ने कहा कि पावर ग्रिड कॉरपोरेशन और सीजीएल कंपनी विस्थापित ग्रामीणों के साथ धोखाधड़ी कर रही है। जिन बिंदुओं पर 12 मार्च को आंदोलन के दौरान सहमति बनी थी, उसका अनुपालन करना होगा। लेकिन बार बार हो रहे विवाद से ऐसा लग रहा है कि कंपनी और ग्रामीणों के बीच किसी प्रकार का तालमेल नहीं है। ऐसे में पुन: आंदोलन की दिशा तय की जाएगी। कंपनी और संवेदक को हर हाल में न्यूनतम मजदूरी का भुगतान करना होगा।

कम मजदूरी देने का विरोध कर रही महिला मजदूरों को समझाते संवेदक।

50 लोगों को काम देने की कर रहे मांग : संवेदक

पावर ग्रिड का काम करा रहे संवेदक ने कहा कि यहां 50 लोगों को काम देने की मांग की जा रही है। जो संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पतरातू डैम में पर्यटन विकास को लेकर जिस प्रकार मजदूरी का भुगतान किया जा रहा है, उसी तर्ज पर भुगतान होगा। राज्य सरकार ने जो मजदूरी दर तय की है वही दिया जाएगा। 50 लोगों को एक साथ काम देना संभव नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patratu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×