Hindi News »Jharkhand »Patratu» कटिया के विस्थापितों को रोजगार में प्राथमिकता देने पर बनी सहमति

कटिया के विस्थापितों को रोजगार में प्राथमिकता देने पर बनी सहमति

पीवीयूएनएल के रशियन हॉस्टल स्थित सभागार में बुधवार को पीवीयूएनएल प्रबंधन और कटिया विस्थापित ग्रामीणों के बीच...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 26, 2018, 03:25 AM IST

पीवीयूएनएल के रशियन हॉस्टल स्थित सभागार में बुधवार को पीवीयूएनएल प्रबंधन और कटिया विस्थापित ग्रामीणों के बीच वार्ता हुई। जिसमें कई बिंदुओं पर सहमति बनी। इस दौरान प्रस्तावित हाउसिंग प्रोजेक्ट में खेती बाड़ी कर जीविकोपार्जन करने वाले 50 रैयत विस्थापितों को स्थायी प्रकृति के रोजगार से जोड़ने के अलावे पीवीयूएनएल के नये पावर प्रोजेक्ट में योग्यता के आधार पर अधिक से अधिक संख्या में रोजगार के लिए प्राथमिकता देने पर सहमति बनी। साथ हीं पीवीयूएनएल प्रबंधन द्वारा कटिया पंचायत के सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने पर भी सहमति दी गई। तय किया गया कि पीवीयूएनएल प्रबंधन सीएसआर फंड के माध्यम से अविलंब विकास कार्य की शुरूआत करेगी। इसके अलावे पीवीयूएनएल प्रबंधन और रैयत विस्थापित प्रतिनिधियों के बीच समय समय पर आवश्यकतानुसार बैठक कर समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इस दौरान सहमति पत्र पर प्रबंधन के अधिकारियों और विस्थापित प्रतिनिधियों के साथ साथ प्रशासन के प्रतिनिधियों ने भी हस्ताक्षर किए। मौके पर प्रबंधन की ओर से सीईओ एके सिन्हा , एचआर हेड पीके विश्वास, कुंतल मजूमदार, रोहित पाल, आर गोस्वामी, प्रशासन से एसडीपीओ श्रीकांत एस राव खोत्रे, बीडीओ एसके भट्ट, विस्थापित प्रतिनिधियों में मुखिया गुनजरी देवी, पंसस पार्वती देवी, भुवनेश्वर महतो, किशोर महतो, कौलेश्वर महतो, नरेश महतो, नंद किशोर महतो, गोविंद महतो आदि मौजूद थे।

नौकरी और मुआवजा के लिए राजभवन मार्च को सफल बनाने का लिया निर्णय

पतरातू | पतरातू के हेसला पंचायत भवन में बुधवार को 25 गांव के विस्थापित प्रतिनिधियों की राजभवन मार्च तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक हुई। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि एक मई को नौकरी, पुनर्वास और मुआवजा की मांग को लेकर हजारों की संख्या में रैयत विस्थापित पीवीयूएनएल क्षेत्र में विशाल मशाल जुलूस निकालेंगे। साथ हीं दो मई को राजभवन मार्च कार्यक्रम को पूरी तरह सफल बनाएंगे। बैठक के दौरान प्रत्येक गांव में बनाए गए कोर कमेटी के सदस्यों ने तैयारियों का ब्योरा दिया। इस मौके पर विस्थापित प्रभावित संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष आदित्य नारायण प्रसाद और मुख्य प्रवक्ता किशोर महतो ने कहा कि सरकार और पीवीयूएनएल प्रबंधन द्वारा विस्थापितों की मुख्य मांगों को नकारा जा रहा है। लेकिन पीटीपीएस से विस्थापित हुए परिवार इस बार आंदोलन के बल पर मांगों को लेकर रहेगें। राजभवन मार्च के दौरान राज्यपाल से फरियाद की जाएगी। अध्यक्षता अब्दुल क्यूम अंसारी और संचालन विजय साहू ने की। मौके पर भुवनेश्वर महतो, विजय मुंडा, कौलेश्वर महतो, एम रहमान, असगर अली, लक्ष्मीकांत महतो, नागेंद्र सिंह, अलीम अंसारी, वीरेंद्र झा, शिवधन गंझू, ननकू मुंडा, नेपाल प्रजापति, भगवान सिंह, सरोज गुप्ता, सुनील मुंडा, माधो प्रसाद, विजय यादव, प्रेम महतो, वीरेंद्र महतो, अशोक उरांव, मनोज मुंडा आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patratu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×