Hindi News »Jharkhand »Patratu» शहर में चल रहा है समाजसेवा का नया ट्रेंड

शहर में चल रहा है समाजसेवा का नया ट्रेंड

शहर में गरीब असहाय लोगों की मदद का नया ट्रेंड सा चल पड़ा है। अब सामाजिक संस्थाएं गरीब की बेटी और असहाय गरीबों के इलाज...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 30, 2018, 03:25 AM IST

  • शहर में चल रहा है समाजसेवा का नया ट्रेंड
    +2और स्लाइड देखें
    शहर में गरीब असहाय लोगों की मदद का नया ट्रेंड सा चल पड़ा है। अब सामाजिक संस्थाएं गरीब की बेटी और असहाय गरीबों के इलाज में खुलकर सामने आ रहे हैं। आज के बदलते दौर में मदद की सामाजिक पहल से समरसता व समानता कायम होने के साथ लोगों में विश्वास बढ़ा रहा है। गरीब, असहाय, जरुरतमंदों की मदद के लिए लोगों के बढ़ते हाथ समाज को मजबूत ही नहीं दे रहे बल्कि एक दूसरे के रिश्ते को बेहतर बना रहे हैं। लोग जातपात व धर्म से ऊपर उठ कर लोग गरीबों की मदद करते दिख रहे हैं। जिले भर में इन दिनों देखने को मिल रहा है कि कुछ संस्थाएं गरीब बिटिया की शादी में मदद कर रही हैं तो कई व्यक्ति असहाय के इलाज कराने और किसी गरीब के निधन पर उसके श्राद्धकर्म के लिए सहयोग को आगे आ रहे है। यह सामाजिक पहल नई पीढ़ी के लिए प्रेरणा स्त्रोत ही नहीं है बल्कि समाज में बढ़ती सेवा भावना को भी दर्शाता है।

    गरीब बिटिया की शादी में मदद और लाचाराें का इलाज करा सामाजिक एकता की मिसाल बन रही हैं संस्थाएं

    मदद की भावना ने हिंदू-मुस्लिम परिवार को जोड़ा :शहर के वार्ड सदस्य राजेंद्र नायक ने गरीब मुस्लिम परिवार की बिटिया की निकाह के लिए आर्थिक मदद ही नहीं, बल्कि उन्हीं के घर में शादी की रस्म की गई। इस पहल ने हिंदू-मुस्लिम परिवार को एक दूसरे से जोड़ दिया है। वे कहते हैं कि आपसी रिश्ते ही समाज को मजबूत बनाते है। इधर, ज्ञान महिला समिति के संस्थापक बिनोद जायसवाल की पहल पर समिति की महिला सदस्याें ने आपसी चंदा कर कई गरीब परिवार की बिटिया की शादी में सहयोग प्रदान किया है। यह महिला समिति गरीब परिवार के बीमार सदस्यों का इलाज कराने और कसी के निधन पर श्राद्धकर्म के लिए भी मदद कर रही है।

    राजेंद्र नायक।

    बीमार महिला को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाते समाजसेवी बिनोद जायसवाल।

    सांसद-विधायक समेत आम लोग भी कर रहे गरीब की शादी में मदद : जिले भर में गरीबों व असहाय बेटियों की शादी में मदद की जा रही है। मदद करने वालों में सांसद, विधायकों से लेकर जनप्रतिनिधि, समाजसेवी भी शामिल है। पतरातू, भुरकुंडा, बरकाकाना, गोला, दुलमी, रजरप्पा, कुजू, घाटोटांड, मांडू आदि क्षेत्रों के गांवों में इस तरह के कार्य आए दिन देखने को मिल रहे हैं।

    जरूरतमंदों को खून देने और भटकते गरीबों को खाना खिलाने में लगे हैं कई लाेग : रामगढ़ बचाओ संघर्ष समिति भी जरुरतमंदों को सहयोग करने के साथ भटकते गरीबों को खाना खिलाने से लेकर उनकी मदद करने का काम रही है। उड़ान एक पहचान संस्था जरुरतमंदों को खून उपलब्ध कराती है। संस्था के रवि कुमार मिश्रा कहते हैं कि इस जीवन में किसी के काम आ जाएं, इससे बड़ा खुशी और क्या होगी।

    राजेंद्र नायक।

    कई संगठन गर्मी में लोगों के घरों तक पहुंचाते हैं पानी

    गर्मी को देखते हुए झारखंड एकता मंच के सदस्य वार्ड के जरुरतमंद लोगों तक टैंकर से पानी पहुंचाने के साथ ही जरुरतमंदों को आर्थिक मदद से लेकर खाद्य सामग्री भी प्रदान कर रहे हैं। वहीं, किसान बेरोजगार संघर्ष मोर्चा भी अपने टैंकरों के माध्यम से पेयजल आपूर्ति कर रही है।

  • शहर में चल रहा है समाजसेवा का नया ट्रेंड
    +2और स्लाइड देखें
  • शहर में चल रहा है समाजसेवा का नया ट्रेंड
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patratu

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×