• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Patratu
  • बेंच-डेस्क खरीदी मामले में पंचायत सेवक को निलंबित करने के निर्देश
--Advertisement--

बेंच-डेस्क खरीदी मामले में पंचायत सेवक को निलंबित करने के निर्देश

जिला उपायुक्त राजेश्वरी बी गुरूवार को जिला मुख्यालय और प्रखंड प्रशासन की टीम के साथ पतरातू प्रखंड के हफुआ पंचायत...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:35 AM IST
बेंच-डेस्क खरीदी मामले में पंचायत सेवक को निलंबित करने के निर्देश
जिला उपायुक्त राजेश्वरी बी गुरूवार को जिला मुख्यालय और प्रखंड प्रशासन की टीम के साथ पतरातू प्रखंड के हफुआ पंचायत पहुंची। यहां उन्होंने सरकार के द्वारा चलाए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। विभागवार योजनाओं की समीक्षा के बाद कार्यों की लंबित देख और योजनाओं में लापरवाही पर बरते जाने घोर नाराजगी व्यक्त की। साथ हीं वहां मौजूद पंचायत सेवक समेत विभागीय अधिकारियों को भी फटकार लगाई। उन्होंने हफुआ और कुरबीज गांव के स्कूलों में 14वें वित्त आयोग की राशि से साढ़े पांच लाख का बेंच डेस्क खरीदारी को लेकर पंचायत सेवक मोहन राम को निलंबित करने के लिए कार्रवाई का आदेश दिया। साथ हीं कहा कि पंचायत के मुखिया के साथ मिलकर की गई इस खरीदारी के मामले में मुखिया के वित्तीय अधिकार भी जांच के बाद रोका जाएगा। कहा कि स्कूलों में बेंच डेस्क सरकार मुहैया करा रही है। ऐसे में 14वें वित्त से राशि खर्च करना लापरवाही है। उन्होंने हफुआ के आंगनबाड़ी सुपरवाइजर की लापरवाही पर सीडीपीओ को तत्काल वेतन रोकने का आदेश दिया। इस पंचायत के स्कूलों का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने सुविधाओं को लेकर कमी पाए जाने पर बीईईओ से स्पष्टीकरण मांगने का आदेश दिया।

उज्जवला योजना का निरीक्षण करतीं उपायुक्त।

समाधान करने का हो रहा प्रयास

जिला प्रशासन सभी विभागों की टीम के साथ गांव में पहुंचकर समस्याओं के अनुरूप समाधान करने का प्रयास कर रही है। कोशिश है कि पंचायतें आदर्श पंचायत बने। हफुआ में उज्जवला योजना, आंगनबाड़ी, 14वें वित्त आयोग, इंदिरा आवास, स्वास्थ्य आदि सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा की गई है। बहुत सारे कार्य लंबित हैं। कई योजनाओं पर कार्य भी नहीं हुआ है। जो पुरानी योजनाएं नहीं पूरी हो पाई उसे बंद करने का निर्देश दिया गया है। रोड की स्थिति खराब है। जिसे सुधारा जाएगा। यह एससी एसटी बहुल क्षेत्र है। इस पंचायत पर प्रशासन विशेष ध्यान देगी। अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई भी की जाएगी।

जलस्रोत की उपयोगिता पर की चर्चा

हफुआ पंचायत के कुरबीज गांव में जल स्रोत जो काफी दिनो से स्वयं जमीन के नीचे से निकल रहा है। उसका निरीक्षण किया। साथ हीं इस जल स्रोत का सिचाई, पेयजल आदि के उपयोग पर अधिकारियों के साथ चर्चा की और इसके विस्तार का निर्देश दिया।

टीम में ये अधिकारी थे मौजूद : टीम में उपायुक्त राजेश्वरी बी, डीडीसी सुनील कुमार, डीआरडीए निदेशक ज्योत्सना सिंह, जिला कल्याण पदाधिकारी अजित निरल सांगा, बीडीओ एसके भट्‌ट, सीओ अजय तिर्की, बीईईओ जुनास टोप्पो, सुलोचना पंडित, पंचायती राज पदाधिकारी अनुग्रह एक्का, वीसीओ सुदर्शन चौबे, देवेंद्रनाथ पांडेय, कल्याण पदाधिकारी राजेंद्र प्रसाद, बीएचओ डॉ. सुभाष चंद्र, सीडीपीओ कनक तिर्की, एलईओ पुष्पा कुमारी, डीपीआरओ बासुदेव प्रसाद, सुरेंद्र प्रसाद, बीपीओ कामाख्या प्रसाद आदि मौजूद थे।

सड़क निर्माण के लिए जल्द बनेगा डीपीआर

कटिया से हफुआ होते हुए बटुका गांव तक पक्की सड़क बनाने के लिए जल्द हीं डीपीआर तैयार की जाएगी। इसके लिए सड़क निर्माण विभाग को निर्देश दिए जाएंगें। गांव के मुख्यालय से जोड़ने की योजना पर उपायुक्त ने निरीक्षण के दौरान विशेष निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि 2016-17 में 61 योजनाएं थी। जो पूरी नहीं हो सकी। साथ हीं वर्ष 2017-18 में योजनाओं को पूरा करने का निर्देश दिया। इसके अलावे हफुआ पंचायत के सभी सरकारी भवनों, आंगनबाड़ी केंद्रों और अन्य भवनों में बिजली पहुंचाने का काम पूरा करने का निर्देश भी दिया।

समस्याओं का कैंप लगाकर करें समाधान

उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि पंचायतों में कैंप लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान करें। प्रत्येक माह यह शिविर होनी चाहिए। जिसमें वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांग राहत को लेकर लाभुकों को हर प्रकार से मदद करने का निर्देश दिया।

X
बेंच-डेस्क खरीदी मामले में पंचायत सेवक को निलंबित करने के निर्देश
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..