पतरातू

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Patratu
  • पुनर्वास नीति के तहत पीटीपीएस प्रभावितों को पांच डिसमिल जमीन दे राज्य सरकार
--Advertisement--

पुनर्वास नीति के तहत पीटीपीएस प्रभावितों को पांच डिसमिल जमीन दे राज्य सरकार

पीटीपीएस के पंचमंदिर पंचायत के प्रभावितों के साथ रैयत विस्थापित मोर्चा के प्रतिनिधियों ने बैठक की। रविवार को हुई...

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 03:40 AM IST
पुनर्वास नीति के तहत पीटीपीएस प्रभावितों को पांच डिसमिल जमीन दे राज्य सरकार
पीटीपीएस के पंचमंदिर पंचायत के प्रभावितों के साथ रैयत विस्थापित मोर्चा के प्रतिनिधियों ने बैठक की। रविवार को हुई बैठक के दौरान मुख्य अतिथि मोर्चा के रंजीत बेसरा ने कहा कि राष्ट्रीय पुनर्वास नीति 2007 के तहत पीटीपीएस क्षेत्र से उजाड़े गए ग्रामीणों को सरकार पांच डिसमिल जमीन देकर बसाए। उन्होंने कहा कि लोगों को पुनर्वासित किए बगैर उजाड़ा जा रहा है। जो राष्ट्रीय पुनर्वास नीति 2007 की धारा चार का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर आठ अगस्त को अंचल कार्यालय के समक्ष विशाल धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने प्रभावित परिवार के लोगांे से ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस अधिकार के लिए आगे आने की अपील की। अगली बैठक 15 जुलाई को हेसला पंचायत में करने का निर्णय लिया गया है। अध्यक्षता शौकत अंसारी अौर संचालन कमलेश राम ने की। मौके पर हरिलाल बेदिया, सुजीत पटेल, मो. इरशाद, वारिस खान, उदय अग्रवाल, इस्लाम अंसारी, वीरू सिंह, अशोक रजक, मुश्ताक अंसारी, मकसूद अंसारी, बदरूद्दीन अंसारी, मुस्तफा अंसारी, अशोक राम, उमेश राम, बिट्‌टू राम, शशि कुमार, प्रेमचंद साहू, नारायण यादव, दशरथ करमाली, अर्चना देवी, सूजी देवी, दशमी देवी, आशा देवी, शांति देवी, पूनम देवी, मंजू देवी आदि मौजूद थे।

बैठक में शामिल पंचमंदिर पंचायत के प्रभावित परिवार।

अधिकार के साथ रोजगार के लिए एकजुट होना होगा : मनोज

पतरातू | पीटीपीएस के सीपीआई यूनियन कार्यालय में रविवार को दर्जनों गांव से आए ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के कार्यकर्ता और ग्रामीण युवाओं की बैठक हुई। जिसमें निर्णय लिया गया कि हक और अधिकार के साथ रोजगार हासिल करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से आंदोलन किया जाएगा। इस अवसर पर प्रखंड अध्यक्ष मनोज कुमार महतो ने कहा कि पतरातू के रियाडा क्षेत्र समेत एनटीपीसी आदि संस्था द्वारा औद्योगीकरण का कार्य किया जा रहा है। लेकिन युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए कोई सरकारी नीति की घोषणा नहीं की गई है। जिससे यहां के युवाओं में काफी आक्रोश है। उन्होंने पतरातू प्रखंड क्षेत्र के विस्थापित और प्रभावित युवाओं से एकजुट होकर इस मुद्दे पर आंदोलन करने की अपील की। साथ ही कहा कि 22 जुलाई को संगठन की ओर से विशाल आमसभा का आयोजन किया जाएगा और आंदोलन को जोरदार ढंग से आगे बढ़ाने की घोषणा की जाएगी। संचालन रविंद्र कुमार ने की। मौके पर गणेश मुंडा, राजमोहन मुंडा, कृष्णा यादव, दिलीप ठाकुर, तंजीम अंसारी, रामजनम यादव, मनोज रजक, प्रवीण कुमार, मनोज मुंडा, अजय उरांव, रामकिशुन भोक्ता, जुगनू प्रसाद, धर्मनाथ, पवन, सुभाष कुमार, निशांत कुमार, सन्नी सिंह, राजू प्रजापति, अनुज मुंडा, भीम कुमार, मनीष कुमार, साजिद आलम आदि कई मौजूद थे।

एकजुटता का प्रदर्शन करते फेडरेशन के कार्यकर्ता।

X
पुनर्वास नीति के तहत पीटीपीएस प्रभावितों को पांच डिसमिल जमीन दे राज्य सरकार
Click to listen..