• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Pirtand
  • सात साल बाद भी पीरटांड़ मॉडल स्कूल को नहीं मिला अपना भवन
--Advertisement--

सात साल बाद भी पीरटांड़ मॉडल स्कूल को नहीं मिला अपना भवन

मॉडल स्कूल पीरटांड़ में सुविधाओं का घोर अभाव है। वर्ष 2011 में झारखंड सरकार के निर्देशानुसार पूरे झारखंड में...

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 03:05 AM IST
मॉडल स्कूल पीरटांड़ में सुविधाओं का घोर अभाव है। वर्ष 2011 में झारखंड सरकार के निर्देशानुसार पूरे झारखंड में केन्द्र सरकार द्वारा संचालित नवोदय विद्यालय की तर्ज पर हरेक प्रखंड में मॉडल विद्यालय की स्थापना की गई।

जिसमें प्रतियोगिता के आधार पर क्लास छह में बच्चों का नामांकन किया जाता है। मॉडल विद्यालय में आज की आधुनिक सुविधाएं सब मिलना है। लेकिन आज सात साल बीत जाने के बाद भी मॉडल स्कूल पीरटांड़ कुम्हरलालो को कुछ भी नहीं मिल पाया है।

जबकि दो बैच के छात्र यहां पढ़ के निकल भी चुके हैं। विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक अरविंद कुमार मिश्र ने बताया कि विद्यालय में शिक्षकों की कमी है। स्थापना काल से ही हमलोग अनुबंध पर तीन शिक्षक कार्यरत हैं। जिनको समय पर वेतन भी नहीं मिल पाता है। तीन शिक्षक रहने के बावजूद भी हर वर्ष मैट्रिक में यहां 100 प्रतिशत रिजल्ट दिया जाता है। विभाग इस ओर कुछ भी ध्यान नहीं देता है। वहीं विद्यालय का अपना कुछ भी नहीं है। अपना भवन तक नहीं है। बच्चों को अब तक कुछ भी सुविधा उपलब्ध नही कराया गया है।

तीन शिक्षकों के भरोसे स्कूल की पढ़ाई, वेतन भी समय पर नहीं मिलता

मॉडल स्कूल में सरकार की ओर से सभी सुविधाएं मिलती है मुफ्त में

मॉडल विद्यालय में विद्यालय भवन बच्चों का आवास ड्रेस नि: शुल्क भोजन किताब कॉपी दिया जाता है। लेकिन अब तक यहां कुछ भी चालू नहीं किया गया है। विद्यालय का अपना हॉस्टल नहीं रहने के कारण प्रखंड क्षेत्र के 17 पंचायतों से चयन होने वाले छात्र छात्राएं हॉस्टल के अभाव में पढ़ाई बीच में ही छोड़कर चले जाते हैं। मॉडल विद्यालय के भवन हॉस्टल इत्यादि के लिए वर्ष 2016 में भवन बनाने का काम प्रारंभ किया गया। लेकिन डीपीसी करके पिछले छह माह से काम को बंद कर दिया गया है। मॉडल विद्यालय पीरटांड़ कुम्हरलालो अपना तारणहार खोज रहा है। यहां के जनप्रतिनिधि भी सोए हुए हैं। मुखिया सुभाष कुमार का कहना है कि वे ठेकेदार को नहीं जानते है। लेकिन काम करवा रहे सौरव कुमार के मुताबिक फंड के अभाव में काम बंद है।

निदेशक बदल जाने से पास नहीं हुआ बिल : जेई


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..