• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Pirtand
  • झारखंड के 41 मजदूर सऊदी अरब में फंसे, कंपनी ने जब्त किया पासपोर्ट
--Advertisement--

झारखंड के 41 मजदूर सऊदी अरब में फंसे, कंपनी ने जब्त किया पासपोर्ट

झारखंड के गिरिडीह, हजारीबाग और बोकारो जिले के बगोदर, विष्णुगढ़, गोमिया और पीरटांड़ थाना क्षेत्र के 41 मजदूर सऊदी अरब...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 03:40 AM IST
झारखंड के 41 मजदूर सऊदी अरब में फंसे, कंपनी ने जब्त किया पासपोर्ट
झारखंड के गिरिडीह, हजारीबाग और बोकारो जिले के बगोदर, विष्णुगढ़, गोमिया और पीरटांड़ थाना क्षेत्र के 41 मजदूर सऊदी अरब के रियाज में फंसे हैं। ये सारे मजदूर वर्ष 2016 में ट्रांसमिशन लाइन में काम करने सऊदी अरब के रियाद गए थे। फंसे मजदूरों ने वीडियो वायरल कर कहा है कि 2017 के अक्टूबर महीने तक कंपनी द्वारा मजदूरी नियमित दी गई। अक्टूबर के बाद अब तक भुगतान उनका बंद है। कंपनी ने पासपोर्ट जब्त कर लिया है। एक कमरे में रहकर अपना जीवन बसर सारे लोग कर रहे हैं। बताया गया है कि एक टाइम का भोजन वहां प्रवासी मजदूरों को नसीब हो पा रहा है। सऊदी अरब के रियाद में फंसे मजदूरों ने केंद्र सरकार से रिहाई की दिशा में कार्रवाई करने की मांग की है। कहा है कि उनके समक्ष एक रास्ते बचे हैं, वतन वापसी के। अब काम के बदले उचित दाम देने में कंपनी आनाकानी कर रही है। सऊदी में फंसे मजदूरों ने कहा है की मजदूरी पिछले 8 महीने से नहीं दी जा रही है। अरबियन टीम्स कांट्रेक्टिंग स्टेबलिस्टमेंट कंपनी में काम करने गए थे, जहां फंस गए हैं।

बगोदर और पीरटांड़ के अलावा हजारीबाग के विष्णुगढ़ और बोकारो के गोमिया के हैं मजदूर

मीडिया व परिजनों को भेजा वीडियो, नवंबर से वेतन भी नहीं दे रही कंपनी

मीडिया और परिजनों को भेजे गए वीडियो में मजदूर कह रहे हैं कि बगोदर प्रखंड के घाघरा गांव निवासी टहल महतो ने उन लोगों को सऊदी अरब लाया था। जिसमंे एक ही कंपनी मंे स्थाई नौकरी दिलाने की बात कही गई थी। लेकिन यहां एक मजदूर की तरह जहां-तहां काम कराया जा रहा है। इसके बाद महीनों से वेतन बंद कर दिया है, पासपोर्ट भी जब्त कर लिया गया है। जब बकाया मांगते हैं तो कंपनी की ओर से साफ कहा गया है कि अब न तो वेतन मिलेगा और न ही पासपोर्ट। ऐसे में उनके खिलाफ आगे कुआं व पीछे खाई वाली स्थिति बन गई है। घर-परिवार के लोग दाने-दाने के मोहताज हैं। बीमार सदस्यों को इलाज नहीं हो पा रहा है। फीस नहीं जमा होने के कारण बच्चों की पढ़ाई छूट गई है।

सऊदी अरब में एक कमरे में रह रहे मजदूर।

ये मजदूर फंसे हैं | बताया जाता है कि रोहित कुमार महतो विष्णुगढ़, जगदीश महतो बगोदर, रामेश्वर महतो बगोदर, सुभाष कुमार महतो बगोदर, संजय कुमार महतो बगोदर, अजय कुमार महतो पीरटांड़ चिरकी, सुबोध कुमार महतो बगोदर, बसंत महतो बगोदर, सुरेंद्र महतो बगोदर, भागीरथ महतो विष्णुगढ़, धनेश्वर महतो बगोदर, श्यामलाल महतो गोमिया, रेशो कुमार महतो बिष्णुगढ़, शंकर कुमार विष्णुगढ़, इंद्र देव महतो बगोदर, जगलाल महतो विष्णुगढ़, विश्वनाथ महतो बगोदर, दीपचंद महतो बगोदर, विजय कुमार बगोदर, लालजीत कुमार बगोदर, मनोज कुमार गोमिया, रामेश्वर साहू, बगोदर, लालचंद महतो बगोदर, गोविन्द महतो बगोदर, प्रमोद कुमार महतो बरकट्ठा, टोकन महतो बगोदर, बाबूलाल महतो बगोदर, भोला महतो विष्णुगढ़, कोलेश्वर महतो गोमिया, रेवत लाल महतो बगोदर, रवि कुमार महतो विष्णुगढ़, कोलेश्वर महतो विष्णुगढ़, ठाकुर रविदास विष्णुगढ़, सहदेव महतो बगोदर, महेंद्र महतो बगोदर, मिथिलेश महतो बगोदर, सेवा महतो विष्णुगढ़, टिंकू महतो बगोदर, बालेश्वर महतो विष्णुगढ़ शामिल हैं।

X
झारखंड के 41 मजदूर सऊदी अरब में फंसे, कंपनी ने जब्त किया पासपोर्ट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..