Hindi News »Jharkhand »Pirtand» प्रखंड 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति ने की विकास कार्यों की समीक्षा

प्रखंड 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति ने की विकास कार्यों की समीक्षा

पीरटांड़ प्रखंड स्थित चिरकी सचिवालय में गुरुवार को प्रखंड बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठक 20...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 13, 2018, 03:50 AM IST

प्रखंड 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति ने की विकास कार्यों की समीक्षा
पीरटांड़ प्रखंड स्थित चिरकी सचिवालय में गुरुवार को प्रखंड बीस सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठक 20 सूत्री के अध्यक्ष की अध्यक्षता में की गई। सर्वप्रथम पूर्व बैठक की संपुष्टि की गई। जून एवं जुलाई महीने की संयुक्त बैठक में सभी विभाग के अधिकारी, 20 सूत्री सदस्य, अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष उपस्थित थे। बैठक में शौचालय निर्माण, स्वच्छ भारत मिशन, ग्रामीण रोजगार दिवस, आंगनबाड़ी केंद्र, जल एवं स्वच्छता विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायतीराज, आंगनबाड़ी भवन निर्माण, एनआरईपी, बैंक ऑफ इंडिया, मध्याह्न भोजन, विधवा पेंशन, स्वास्थ्य, श्रम, कृषि, सीएससी, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं पंचायतों को ओडीएफ करने पर चर्चा की गई। बताया गया कि पूरे प्रखंड में 117 आंगनबाड़ी केंद्र का भवन का निर्माण किया जा रहा है। जिसमें मनरेगा की ओर से 82 आंगनबाड़ी केंद्र भवन का निर्माण जिला परिषद् द्वारा, 10 आंगनबाड़ी भवन का निर्माण एवं 20 आंगनबाड़ी भवन का निर्माण एनआरईपी द्वारा कराया जा रहा है। जिसमें कई आंगनबाड़ी केंद्र बन करके तैयार है। वहीं कई अपूर्ण भी है। कहा गया कि समिति के साथ 26 जुलाई को आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, पर्यवेक्षिका एवं सीडीपीओ की बैठक बुलाई गई।

बीस सूत्री की बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधि एवं पदाधिकारी।

मध्याह्न भोजन की दी जानकारी

एक प्रश्न के उत्तर में आंगनबाड़ी प्रतिनिधि ने बताया कि सबेरे 8 से मध्याह्न 01 बजे तक आंगनबाड़ी केंद्र चलाया जा रहा है जिसमें नाश्ता में बच्चों को 3 दिनों तक अंडा एवं 3 दिनों तक दलिया दिया जाता है वहीं मध्याह्न भोजन में खिचड़ी खिलाई जाती है। पूरे पीरटांड़ में 128 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हैं। वहीं आंगनबाड़ी केंद्र से लक्ष्मी लाडली योजना, कन्यादान योजना वगैरह भी संचालित किए जाते हैं। गर्भवती महिलाओं के लिए गोद भराई कार्यक्रम एवं छोटे बच्चों के लिए मुंह जुठी कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाता है। स्वास्थ्य विभाग की चर्चा में बताया गया कि डीडीटी का छिड़काव अभी चिरकी, हरलाडीह, सोबरनपुर, कौक्षिया, मांझीडीह एवं मधुबन स्वास्थ्य उपकेंद्र के पोषक क्षेत्रों में किया जाएगा।

जरूरतमंदों को मिलेगा 10 किलो अनाज

प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि झारखंड राज्य आकस्मिक कोष की स्थापना सरकार द्वारा सभी पंचायतों में की गई है। जिसमें मुखिया के खाते में 10,000 रुपए सरकार ने भेज दी है जो जरुरत पड़ने पर जरूरतमंद लोगों को 10 किलो अनाज मुहैया कराएगी। इसका लक्ष्य केवल यह है कि भुखमरी का शिकार कोई नहीं हो। बीटीएम अमित कुमार ने बताया कि अभी किसानों के लिए नि:शुल्क धान बीज, ज्वार बीज एवं मक्का बीज दिया जा रहा है। समिति अध्यक्ष ने बीईईओ को निर्देश दिया कि जहां विद्यालय प्रबंधन समिति के 3 वर्ष पूरे हो गए हैं। बैठक में अध्यक्ष के अलावा उपाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह, डॉक्टर प्रमोद कुमार, मधुबन थाना प्रभारी, बीईईओ भूपेंद्रनाथ सिंह चौधरी, दिलीप बाउरी, बालेश्वर यादव, मेराज आलम, बैकुंठ पंडित, पवन कुमार गोस्वामी, सौगात मंडल, आदित्य, अमन, सरफराज अंसारी, राजेश कुमार, मनोज कुमार मुर्मू, अजय कुमार, किशोर, चंदन सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pirtand

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×