पोटका

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Potka
  • विद्यालयों के विलय का विरोध करने वालों पर भड़के उपायुक्त
--Advertisement--

विद्यालयों के विलय का विरोध करने वालों पर भड़के उपायुक्त

डीसी ने जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, थाना प्रभारी को कड़ा पत्र लिखकर...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 03:25 AM IST
डीसी ने जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, थाना प्रभारी को कड़ा पत्र लिखकर विद्यालय विलय का विरोध करने वालों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। पत्र में लिखा गया है कि नवीनतम तकनीकी युक्त गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से 31 मार्च को प्रारंभिक शिक्षा समिति की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार जिले के 393 विद्यालयों का विलय निकटवर्ती विद्यालयों में किया गया है। उक्त निर्णय का कार्यान्वयन 30 अप्रैल तक हर स्थिति में कर लेना था।

विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से ऐसी सूचना मिल रही है कि कुछ असामाजिक तत्व और तथाकथित नेताओं द्वारा ग्रामीणों को भड़काकर विद्यालय विलय का विरोध कराया जा रहा है। पोटका प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय मातकमडीह, उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय सेरालडीह और उत्क्रमित मध्य विद्यालय हेंसलडीह में शिक्षकों को बंधक बनाकर विद्यालय में रोका गया था, जो पूर्णतः अनुचित है। ऐसे असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर उनके विरुद्ध कार्यवाही करने की आवश्यकता है, ताकि सरकार की नीति का पालन सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह ऐसे असामाजिक तत्व जो विद्यालय विलय का विरोध कर रहे हैं। उनके विरुद्ध भारतीय दंड विधान के अंतर्गत कार्यवाही करें।

डीसी को पत्र लिख स्कूल विलय पर पुनर्विचार करने की मांग: घाटशिला प्रखंड मुख्यालय स्थित मिडिल स्कूल को चुनूडीह स्कूल में विलय किए जाने का अभिभावकों ने विरोध किया है। इस संबंध में पूर्व उपप्रमुख जगदीश भकत ने डीसी को पत्र लिखकर इस स्कूल के विलय पर पुनर्विचार करने की मांग की है। पत्र में उन्होंने कहा है कि यहां आसपास कोई मिडिल स्कूल नहीं है। चुनूडीह जाने के लिए हाइवे से मनोहर कॉलोनी के रास्ते इस इलाके के बच्चों को स्कूल जाना पड़ रहा है। वहां तक जाने का सीधा रास्ता नहीं है। इससे बच्चों को स्कूल जाने में काफी परेशानी हो रही है। वहां जाने के लिए अतिरिक्त तीन किमी बच्चों को जाना पड़ रहा है।

X
Click to listen..