Hindi News »Jharkhand »Potka» सत्संग परमात्मा से जुड़ने का जारिया है - स्वामी सुधीर जी

सत्संग परमात्मा से जुड़ने का जारिया है - स्वामी सुधीर जी

जादूगोड़ा |यूसील कॉलोनी सामुदायिक केंद्र के समीप भागवत प्रेमी संघ द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के तीसरा दिन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 26, 2018, 03:30 AM IST

जादूगोड़ा |यूसील कॉलोनी सामुदायिक केंद्र के समीप भागवत प्रेमी संघ द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के तीसरा दिन वृंदावन से आये कथावाचक स्वामी सुधीर जी महाराज ने भागवत कथा के महत्व के बारे में विस्तार रूप से जानकारी देते हुए कहा कि एक वाक्य भी यदि मानव के जीवन में उतर जाए तो जीवन सफल हो जाता है। यदि आपका अपमान हुआ है, अपमान होता है और मन में यदि कुछ चाहा था, वह नहीं हो पाया तो आप मंदिर में जाकर भगवान से शिकायत करते हैं। जीवन में कष्ट तो आते जाते रहते हैं, संकट आने पर रोए नहीं बल्कि मुस्कराते रहिए। हम लोग आमतौर पर सुख में तो जीते हैं, मगर दु:ख आने पर रोते हैं। संत्संग उन्हीं लोगों के लिए होता है जिनमें परमात्मा से मिलने की इच्छा होती है। जिनको परमात्मा से मिलने की छटपटाहट होती है, वही सत्संग में शामील हो पाते हैं। यह युगधर्म है जहां पर वृथा स्वप्न देख कर लोग धर्म के नाम पर भटकते हुए नजर आते हैं। कार्यक्रम के दौरान भक्तों को झुमते हुए देखा गया और बच्चों द्वारा झांकि भी निकाली गई। कार्यक्रम में जादूगोड़ा कॉलोनी वासियों के अलावा पोटका, हाता, मुसाबनी, घाटशिला, गालुडीह आदि क्षेत्र में श्रद्धालु उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Potka

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×