Hindi News »Jharkhand »Potka» राज्य में दाबांकी बनेगा कुष्ट रोगियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र

राज्य में दाबांकी बनेगा कुष्ट रोगियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र

भारत सेवाश्रम संघ दाबांकी झारखंड में कुष्ट रोगियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र बनेगा। इसके लिए संस्था...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 28, 2018, 03:35 AM IST

भारत सेवाश्रम संघ दाबांकी झारखंड में कुष्ट रोगियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र बनेगा। इसके लिए संस्था हर मुमकिन प्रयास करेगी। रिजवान आदित्य फाउन्डेशन के चेयरमैन रिजवान आदित्य ने आश्रम में इलाजरत कुष्ठ रोगियों के बीच यह घोषणा की तो समाज से तिरस्कृत कुष्ठ रोगियों के चेहरे खिल उठे। आश्रम परिसर में स्थित अस्पताल का भ्रमण करने के लिए अफ्रीका से आए आदित्य रिजवान ने बताया कि उनका गैर सरकारी स्वयंसेवी संस्था आदित्य रिजवान फाउंडेशन एशिया के दो देशों और अफ्रीका के 5 स्थानों में खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा सेवाएं एवं आर्थिक सुरक्षा सह विकास के क्षेत्र में काम कर रही है। पोटका के दाबांकी स्थित इस आश्रम के बारे में उन्हें उनके ग्लोबल प्रमुख सुजीत सरकार के माध्यम से मालूम हुआ। सुजीत सरकार जादूगोड़ा में ही पले- बढे हैं, इसलिए उन्होंने कई बार आग्रह किया तो उनके मित्र सुकुमार दास जो यूसील जादूगोड़ा में प्रशासनिक अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं । उन्होंने आश्रम के स्वामी जी से मिलकर सारा कार्यक्रम बनाया। इसके बाद सरकार और सुकुमार दास के प्रयासों से इस अस्पताल को 50 लाख रुपयों की पहली आर्थिक मदद फाउंडेशन की ओर से दी गयी थी और शुक्रवार 10 लाख रुपए और दिए गए हैं।

जादूगोड़ा - अस्पताल में मरिजों से मिलते आदित्य रिजवान व अन्य।

100 बिस्तर क्षमता का बनेगा अस्पताल

संस्था की ओर से अस्पताल को आधुनिक सुविधाओं से लैस करके इसे 100 बिस्तर की क्षमता वाला बनाना है । साथ ही शल्य क्रिया के लिए एक ऑपरेशन थियेटर का भी निर्माण किया जायगा। सरकार से मदद की बात पर उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत हुई है और प्रधानमंत्री ने उन्हें कहा है कि भारत में ख़ास कर ग्रामीण बहुल क्षेत्रों में संस्था को कुष्ठ उन्मूलन की दिशा में कार्य करने के लिए जिस प्रकार के भी सहयोग की आवश्यकता होगी हर स्तर पर सरकार करेगी। गुजरात में मालिया हटिना गांव को भी संस्था ने गोद लिया है और वहां नारी सशक्तिकरण की दिशा में काम हो रहा है।

भास्कर न्यूज |जादूगोड़ा

भारत सेवाश्रम संघ दाबांकी झारखंड में कुष्ट रोगियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त केंद्र बनेगा। इसके लिए संस्था हर मुमकिन प्रयास करेगी। रिजवान आदित्य फाउन्डेशन के चेयरमैन रिजवान आदित्य ने आश्रम में इलाजरत कुष्ठ रोगियों के बीच यह घोषणा की तो समाज से तिरस्कृत कुष्ठ रोगियों के चेहरे खिल उठे। आश्रम परिसर में स्थित अस्पताल का भ्रमण करने के लिए अफ्रीका से आए आदित्य रिजवान ने बताया कि उनका गैर सरकारी स्वयंसेवी संस्था आदित्य रिजवान फाउंडेशन एशिया के दो देशों और अफ्रीका के 5 स्थानों में खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा सेवाएं एवं आर्थिक सुरक्षा सह विकास के क्षेत्र में काम कर रही है। पोटका के दाबांकी स्थित इस आश्रम के बारे में उन्हें उनके ग्लोबल प्रमुख सुजीत सरकार के माध्यम से मालूम हुआ। सुजीत सरकार जादूगोड़ा में ही पले- बढे हैं, इसलिए उन्होंने कई बार आग्रह किया तो उनके मित्र सुकुमार दास जो यूसील जादूगोड़ा में प्रशासनिक अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं । उन्होंने आश्रम के स्वामी जी से मिलकर सारा कार्यक्रम बनाया। इसके बाद सरकार और सुकुमार दास के प्रयासों से इस अस्पताल को 50 लाख रुपयों की पहली आर्थिक मदद फाउंडेशन की ओर से दी गयी थी और शुक्रवार 10 लाख रुपए और दिए गए हैं।

बचपन की एक घटना ने बदल दी जीवन की दिशा

समाज सेवा के क्षेत्र में आने की प्रेरणा कैसे मिली पूछने पर रिजवान आदित्य ने बताया कि उनका जन्म गुजरात के पोरबंदर के छोटे से गांव के गरीब परिवार में हुआ था । सभी भाई बहन मिला कर 9 लोगों का परिवार था । पिता मूंगफली बेचते थे। किसी तरह से मैट्रिक तक की पढाई करने के बाद 175 रुपये प्रतिमाह पगार पर काम मिला। एक बार पूरी पगार अपनी जेब में रखकर घर के बहार बैठे थे कि तभी एक वृद्ध आदमी आया और मेडिकल स्टोर का पता पूछने लगा चूंकि वह देहात से आया था इसलिए उसे समझने में परेशानी हो रही थी । रिजवान उसके साथ हो लिए और मेडिकल स्टोर तक पहुंचा दिया। मगर जब उसकी दवाई का बिल 110 रुपए बताया गया तो उस गरीब के पास रुपए ही नहीं थे । तब रिजवान ने अपनी पूरे महीने की पगार में से 110 रूपया उस आदमी को दिया और वह अपने बेटे के लिए दवाई ले जा सका।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Potka

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×