पोटका

  • Home
  • Jharkhand News
  • Potka
  • ग्रामीणों ने फर्जी ग्राम सभा की उपायुक्त से की थी शिकायत
--Advertisement--

ग्रामीणों ने फर्जी ग्राम सभा की उपायुक्त से की थी शिकायत

ग्रामीणों ने फर्जी ग्राम सभा की उपायुक्त से की थी शिकायत फर्जी वन अधिकार समिति के सचिव रामपदो टुडू और अध्यक्ष...

Danik Bhaskar

May 14, 2018, 03:40 AM IST
ग्रामीणों ने फर्जी ग्राम सभा की उपायुक्त से की थी शिकायत

फर्जी वन अधिकार समिति के सचिव रामपदो टुडू और अध्यक्ष नरसिंह देवगम को बनाया गया। उनका हस्ताक्षर लिया गया। राखा वन क्षेत्र, पोटका अंचल कार्यालय का बिना स्टंप के ही हस्ताक्षर करवाया गया। इस तरह से फर्जी ग्राम सभा कर सरकार को भेज दिया गया। जब इस तरह की ग्राम सभा की जानकारी ग्रामीणों को हुई तो सबने मिलकर उपायुक्त से लेकर प्रधानमंत्री कार्यलय तक शिकायत की। ग्रामीणों ने फर्जी ग्राम सभा करवाने वाले अधिकारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया। जादूगोड़ा थाना में इन अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए लिखित आवेदन दिया गया। वन एवं पर्यावरण विभाग द्वारा फर्जी ग्राम सभा करवाने वाले अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार हैं। सितंबर 2017 में उपायुक्त जमशेदपुर के निर्देश पर अधिकृत अधिकारी विश्वनाथ महेश्वरी को पुनः ग्राम सभा करवाने के लिए भेजा गया। लेकिन गांव के ग्रामीणों ने उनसे कहा कि पहले फर्जी ग्राम सभा कराने वाले अधिकारी पर करवाई हो। ग्रामीणों को लिखित दे। लेकिन यूसील ने ग्राम सभा के लिए लिखित नहीं दिया है। वहीं इस बार यूसील द्वारा की गई ग्राम सभा में भी जिला वन अधिकार समिति के अध्यक्ष सत्यवान नायक, देवयानी मुर्मू, आरती सामाद ने हस्ताक्षार करने से मना कर दिया।

Click to listen..