Hindi News »Jharkhand »Rajdhanwar» धनवार : मैग्जीन हाउस में विस्फोट, दो की मौत

धनवार : मैग्जीन हाउस में विस्फोट, दो की मौत

सिटी रिपोर्टर | गिरिडीह/घोड़थम्भा (राजधनवार) धनवार थाना क्षेत्र के अलगदेशी स्थित साईं इंटरप्राईजेज मैग्जीन हाउस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:05 PM IST

सिटी रिपोर्टर | गिरिडीह/घोड़थम्भा (राजधनवार)

धनवार थाना क्षेत्र के अलगदेशी स्थित साईं इंटरप्राईजेज मैग्जीन हाउस में बुधवार की देर शाम विस्फोट के दौरान कार्यरत 2 कर्मियों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि कई और लोगों के मरने की आशंका है। हालांकि एसपी ने दो के मौत की पुष्टि की है। जिसमें एक डोमचांच के भेलवाटांड़ निवासी रामकिशुन राणा (55) है। घटना शाम करीब सात बजे की है। मैग्जिन हाउस के संचालक कोडरमा जिला के डोमचांच निवासी मनोज मोदी का है। जबकि मैग्जीन हाउस कोडरमा से सटे गिरिडीह जिला अंतर्गत अलगदेसी गांव के सुनसान क्षेत्र में स्थित है।

बुधवार को जिस वक्त विस्फोट हुआ, उस समय विस्फोटक मालवाहक गाड़ी में लोड किया जा रहा था। लिहाजा जो भी लोग माल लोडिंग में शामिल थे, सभी के चिथड़े उड़ गए। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस पदाधिकारी सदलबल वहां पहुंचे। लेकिन मैग्जीन हाउस के नजदीक जाने की हिम्मत कोई नहीं जुटा पा रहा है। हालांकि देर रात पहुंचे एसपी सुरेन्द्र झा ने घटनास्थल का मुआयना किया और अकेले उस स्थल पर पहुंच गए जहां विस्फोट हुआ था। जबकि अन्य लोगों को वहां जाने पर साफ मना कर दिया। सारे लोगों को घटनास्थल से करीब 300 गज दूर ही रोक दी गई है। विस्फोट इतना भयानक था कि उसके दो किलोमीटर के दायरे में स्थित तमाम गांव दहल उठा। वहीं लोडिंग के दौरान मौजूद कर्मियों व मालवाहक के चालक के चिथड़े उड़ गए। अनगिनत टुकड़ाें में विभक्त शवों की पहचान भी नहीं हो पा रही है। लिहाजा एसपी के मुआयना के बाद भी पुलिस शव बरामदगी की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है।

ऑथोरिटी को बुलाया गया, जांच के बाद होगी कार्रवाई : एसपी

एसपी सुरेन्द्र कुमार झा ने कहा कि विस्फोटक लाईसेंस देने वाले ऑथोरिटी को बुलाया गया है। गुरुवार सुबह टीम पहुंचेगी। जिससे विस्फोटक कारोबार के तमाम नाॅर्म्स लिए जाएंगे। शव पूरी तरह से क्षत-विक्षत हो चुके हैं। लिहाजा उसे भी रात में नही निकाला जाएगा। फिलहाल दो लोगांे के मरने की पुष्टि हुई है। जांच के बाद संचालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

कोयला चोरी: झामुमो विधायक योगेंद्र महतो को तीन साल की सजा, विधायकी होगी खत्म

हाईकोर्ट में अपील के लिए जमानत मिली, लेकिन नौ साल तक नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

भास्कर न्यूज | रामगढ़

कोयला चोरी मामले में गोमिया से झामुमो विधायक योगेंद्र महतो को पांच साल की सजा सुनाई गई है। एसडीजेएम आरती माला की कोर्ट ने विधायक के भाई झामुमो जिला अध्यक्ष चित्रगुप्त महतो, गोपाल प्रसाद, चंद्रदेव महतो और पंकज कुमार को भी पांच-पांच साल की सजा सुनाई। पांच-पांच हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। सजा सुनाने के बाद कोर्ट ने पांचों को जमानत दे दी। इन्हें हाईकोर्ट में अपील दायर करने के लिए एक महीने की मोहलत दी गई है। तीन साल की सजा मिलने के बाद अब योगेंद्र महतो की विधानसभा की सदस्यता खत्म हो जाएगी। वे नौ साल तक चुनाव भी नहीं लड़ सकेंगे।

थाना प्रभारी चंद्रिका प्रसाद यादव ने वर्ष 2010 में रजरप्पा थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें कहा गया था कि बोरोबिंग स्थित शुभम-शिवम हार्डकोक फैक्ट्री में योगेंद्र महतो और चित्रगुप्त महतो कोल शेयर पार्टनर हैं। इस फैक्ट्री में अवैध कोयले को हार्डकोक बनाकर बेचा जाना था। इसी मामले में सुनवाई के बाद एसडीजेएम की कोर्ट ने धारा 441 और धारा 120 के तहत यह फैसला सुनाया। सजा सुनाए जाने के बाद विधायक योगेंद्र महतो ने कहा, हमें जबरन फंसाया गया है। इस मामले से मेरा दूर-दूर तक कोई ताल्लुक नहीं है।

विधायक, योगेंद महतो

चित्रगुप्त महतो

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rajdhanwar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×