--Advertisement--

एक स्कूल में होगा प्रबंधन समिति का चुनाव

चितरपुर के दो स्कूलों के प्रबंधन समिति के लोग एक दूसरे पर गड़बड़ी का आरोप लगा रहे हैं, परंतु दोनों मामले में निष्पक्ष...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 03:40 AM IST
चितरपुर के दो स्कूलों के प्रबंधन समिति के लोग एक दूसरे पर गड़बड़ी का आरोप लगा रहे हैं, परंतु दोनों मामले में निष्पक्ष जांच के बजाए शिक्षा विभाग के एकतरफा कार्रवाई से लोग हैरान हैं। चितरपुर के कन्या उर्दू उच्च विद्यालय में गड़बड़ी की शिकायत की एंटी करप्शन ब्यूरो में जांच चल रही है।

इसी प्रकार, मदरसा मिफताहुल उलूम में भी कई गड़बड़ी का आरोप है। इसकी भी विभागीय जांच हो रही है, परंतु जिला शिक्षा अधीक्षक ने एकतरफा निर्णय लेते हुए मदरसा मिफताहुल उलूम की प्रबंधन समिति को भंग कर नए प्रबंधन समिति गठन के लिए आदेश जारी कर दिया है। जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा जारी पत्र के अनुसार, चार जुलाई को मदरसा मिफताहुल उलूम में प्रबंधन समिति के गठन के लिए आम सभा होगी। इधर, मदरसा मिफताहुल उलूम के वर्तमान अध्यक्ष सालिक अहमद ने कहा है चितरपुर के कन्या उर्दू उच्च विद्यालय में गड़बड़ी की शिकायत मैंने की थी, जांच निर्णयक मोड़ पर है। संभव है एसीबी जांच से बचने के लिए डीएसई ने ऐसा तुगलकी फरमान जारी किया है।

चितरपुर के कन्या उर्दू उच्च विद्यालय में गड़बड़ी की शिकायत की एंटी करप्शन ब्यूरो में जांच चल रही है

आम सभा स्थगित करें या दोनों विद्यालयों में हो चुनाव

इधर, इस पूरे मामले को लेकर मदरसा मिफताहुल उलूम के वर्तमान अध्यक्ष सालिक अहमद ने डीसी राजेश्वरी बी को आवेदन देकर जिला शिक्षा अधीक्षक के तुगलकी फरमान पर रोक लगाने की मांग की है। डीसी को लिखे पत्र में कहा गया है कि कन्या उर्दू उच्च विद्यालय में घोर अनियमितता की शिकायत एसीबी दर्ज है। इसकी जांच चल रही है। एेसे में जिले के पूरे स्कूलों को छोड़कर द्वेषपूर्ण तरीके से चार जुलाई को आम सभा की तिथि घोषित कर दी। उन्होंने इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए चुनाव स्थगित करने या दोनों विद्यालयों में आमसभा कराने की मांग की है।

नियम सम्मत हो रही है आमसभा


एसीबी के एसपी द्वारा स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के संयुक्त सचिव को जांच के लिए लिखा गया पत्र।

जनसंवाद के निर्देश पर हो रही है आमसभा