सुबह पांच बजे पोस्टमार्टम के लिए भेजा शव, 22 घंटे बाद हटा जाम, 3 कोलियरी बंद हाेने से सीसीएल काे कराेड़ाें का नुकसान

Ramgarh News - भास्कर न्यूज| उरीमारी/भुरकुंडा उरीमारी में विस्थापित सह झामुमो नेता गहन टुडू हत्याकांड मामले को लेकर सोमवार को...

Sep 17, 2019, 07:41 AM IST
भास्कर न्यूज| उरीमारी/भुरकुंडा

उरीमारी में विस्थापित सह झामुमो नेता गहन टुडू हत्याकांड मामले को लेकर सोमवार को उरीमारी थाना परिसर में जनप्रतिनिधि, सीसीएल प्रबंधन, और पुलिस प्रशासन के बीच त्रिपक्षीय वार्ता आयोजित की गई। वार्ता के बाद सड़क जाम हटा। साथ ही तीनों कोलियरी में उत्पादन कार्य शुरू हो गया। सड़क जाम करीब 22 घंटे तक रहा। एसपी और जीएम के आश्वासन के बाद आंदोलनकारियों ने आंदोलन वापस ले लिया। घटना को लेकर तीनों कोलियरी बंद होने से सीसीएल को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा।गहन टुडू हत्याकांड के 22 घंटे के बाद सडक जाम हटा। जबकि सोमवार की सुबह पांच बजे गहन टुडू के शव को पोस्टमार्टम के लिए हजारीबाग भेजा गया। जीएम ने मृतक के आश्रित को 20 सितंबर को नियुक्ति पत्र देने का आश्वासन दिया। वार्ता के बाद जनप्रतिनिधि और आंदोलनकारियों ने उरीमारी चेकपोस्ट स्थित सिदाे-कान्हो चाैक के पास शोकसभा कर दो मिनट का मौन धारण कर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी।

वार्ता में जनप्रतिनिधियों ने हजारीबाग एसपी मयूर पटेल से कहा कि पिछले करीब एक वर्ष से उरीमारी क्षेत्र में लेवी को लेकर हत्या और धमकी देने के मामले में काफी बढ़ोतरी हुई है। अपराधी और नक्सली ट्रांसपाेर्टराें, सेल संचालक और आउटसोर्सिंग कंपनी सहित विस्थापित नेताओं को लेवी के लिए धमकी देते आ रहे है। जिसके कारण उक्त लोग अपने आप काफी असुरक्षित महसूस कर रहे है। अपराधी और नक्सलियों पर पुलिस अंकुश नहीं लगाती है तो मजबूरन उन्हें क्षेत्र से पलायन करना होगा। जनप्रतिनिधियों ने एसपी से पैंथर पुलिस, पीसीआर वैन देने और असुरक्षित स्थानों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने, असुरक्षित स्थान, जरजरा चैक, उरीमारी चेकपोस्ट, डीएवी स्कूल, बीजीआर कैंप के समीप सीसीटीवी कैमरा लगाने, जनप्रतिनिधियों को सुबह दोपहर, और शाम को कार्यालय आने जाने के दौरान सुरक्षा मुहैया कराने सहित जनप्रतिनिधियों को हथियार का लाइसेंस देने की मांग की। कहा कि तभी हम लोग सुरक्षित रह सकते है।

जनप्रतिनिधियों के मांग पर एसपी ने कहा कि जनता के सहयोग से ही अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है। अपराध को रोकने और खत्म करने के लिए हमें जनता का सहयोग की अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि लेवी सहित अन्य मामले को लेकर अपराधी या नक्सली किसी का भी धमकी मिलने पर सीधा उन्हें सूचित करे। उन्होंने कहा कि उरीमारी चेकपोस्ट, थाना के समीप, और जरजरा चाैक, न्यू बिरसा जाने वाले रास्ता में चेकपोस्ट बनाकर मंगलवार से वाहनों की जांच की जायेगी। जो सुबह से शाम तक चलेगी। उन्होंने कहा कि अपराध पर अंकुश लगाने के लिए एक कंपनी फोर्स मंगलवार से उरीमारी थाना को मुहैया कराया जायेगा। एसपी ने कहा कि जल्द ही गहन टुडू हत्याकांड का खुलासा कर लिया जायेगा। पुलिस को मामले से संबंधित कई अहम इनपुट मिले है। जिसपर जांच जारी है। वार्ता में बड़कागांव इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिन्हा, उरीमारी थाना प्रभारी मो. इसरार अहमद, बड़कागांव थाना प्रभारी मुकेश कुमार, गिद्दी थाना प्रभारी सुदामा राम, बरका-सयाल एसओपी आरआर श्रीवास्तव, पीओ पीसी राय, डीके रामा सहित जनप्रतिनिधि शामिल थे।

पिता के शव को कंधा देकर अंतिम विदाई देती पुत्रियां।

पुत्रियों ने पिता के शव को दिया कंधा

विस्थािपत नेता सह सीसीएलकर्मी गहन टुडू का शव उरीमारी स्थित उनके आवास पहुंचते लाेगाें की भीड़ उमड़ पड़ी। क्षेत्र के लोगों की आंखें नम हो गई। पुत्रियां अपने पिता का साया उठाने और दुखों का पहाड़ टूटने पर भगवान को कोस रही थी। मृतक गहन टुडू के पुत्रियों ने अपने पिता के शव को कंधा देकर नम आखों अंतिम विदाई दी। बेटियां घर से पिता को शव को कंधा देते हुए मेनरोड तक लाई। इसके बाद शव यात्रा हेसाबेड़ा होते हुए उरीमारी श्मशान घाट पहुंचा। जहां गहन टुडू के शव को चाचा सोमू मांझी ने मिट्टी देकर दफनाया। शव यात्रा में सैकड़ों लोग शामिल हुए।

उरीमारी चेकपोस्ट में शोकसभा में शामिल लोग।

उरीमारी पहुंचे डीआईजी, एसपी के साथ की बैठक, कहा हत्यारे जल्द होंगे गिरफ्तार

विस्थापित नेता गहन टुडू हत्याकांड को लेकर सोमवार को हजारीबाग उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल के डीआईजी पंकज कंबोज उरीमारी ओपी पहुंचे। जहां उन्होंने ने हजारीबाग एसपी मयूर पटेल और रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार के साथ बैठक की। बैठक में डीआईजी ने हत्याकांड के बारे में विस्तृत जानकारी ली। साथ ही कई आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। बैठक के बाद डीआईजी ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि गहन टुडू हत्याकांड को लेकर उनके नेतृत्व में टीम गठित की गई है। टीम हत्याकांड के उद्भेदन और हत्यारों को पकड़ने के लिए अभियान चला रही है। गहन टुडू के मोबाइल फोन का ट्रेकिंग कराया जा रहा है। बैठक में बरका-सयाल के जीएम अजय सिंह, बीजीआर कंपनी के मैनेजर सत्यनारायण रेड्डी सहित अन्य शामिल थे।

थाना परिसर में पहुंचे मृतक गहन टुडू के परिजन।

वार्ता मंे शामिल हजारीबाग एसपी मयूर पटेल व जीएम अजय सिंह।

दुर्गा पूजा से पहले असुरक्षित जगहों पर लगेंगे सीसीटीवी

उरीमारी थाना परिसर में हुई वार्ता में एसपी के निर्देश पर बरका-सयाल प्रक्षेत्र के जीएम अजय सिंह ने कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा बताये गये असुरक्षित जगहों पर दुर्गा पूजा से पहले सीसीटीवी कैमरा लगवा दिया जाएगा।

3 काेलियरियाें में काम बंद

विस्थापित नेता सह सीसीएलकर्मी गहन टुडू की हत्या के बाद आक्रोशित लोगों ने उरीमारी, न्यू बिरसा और बिरसा परियोजना का उत्पादन और संप्रेषण कार्य ठप करा दिया। इसके कारण सीसीएल को करोड़ों रुपया का नुकसान उठाना पड़ा है। जीएम अजय सिंह ने कहा कि कोलियरी का उत्पादन ठप होने से हुए नुकसान की भरपाई करने का प्रयास करेंगे।

शोकसभा का आयोजन

उरीमारी चेक पोस्ट स्थित सिद्धू कान्हो चैक के समीप जनप्रतिनिधियों ने सोमवार को शोकसभा का आयोजन किया। शोकसभा में दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण कर ईश्वर से प्रार्थना करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। शोकसभा में लोकनाथ महतो, फागू बेसरा, दसई मांझी, संजीव बेदिया, राजू यादव, जीआर भगत, कौलेश्वर गंझू, शैनाथ गंझू, सीताराम किस्कु, चरका करमाली, कार्तिक मांझी, सोनाराम मांझी, महादेव बेसरा, संजय करमाली, मोहन मांझी, महादेव मांझी, दिनेश करमाली सहित सैकड़ों लोग शामिल थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना