• Home
  • Jharkhand News
  • Ramgarh
  • बंद के दौरान नहीं चले बड़े वाहन, सड़क पर उतरते ही 506 समर्थक गिरफ्तार
--Advertisement--

बंद के दौरान नहीं चले बड़े वाहन, सड़क पर उतरते ही 506 समर्थक गिरफ्तार

झारखंड सरकार की भूमि अधिग्रहण बिल के संशोधन के खिलाफ विपक्ष समन्वय समिति के राज्यव्यापी बंद का रामगढ़ शहर में...

Danik Bhaskar | Jul 06, 2018, 03:30 AM IST
झारखंड सरकार की भूमि अधिग्रहण बिल के संशोधन के खिलाफ विपक्ष समन्वय समिति के राज्यव्यापी बंद का रामगढ़ शहर में मिला-जुला असर रहा। 24 घंटें की बंद के तहत लंबी दूरी की बसें व भारी वाहन नहीं चले, पर छोटी गाड़ियां चलीं। बस स्टैंडों में सन्नाटा पसरा रहा। वहीं दिन के 11 बजे से शहर की दुकानें खुलने लगी। पुलिस ने शहर में सड़क पर उतरे कई दलों के नेता, कार्यकर्ता सहित बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने सभी को कैंटोनमेंट बोर्ड के फुटबॉल ग्राउंड में बनाए गए अस्थाई पुलिस कैंप में रखा। गुरुवार की सुबह करीब सात बजे से ही कई दलों के नेता, कार्यकर्ता व बंद समर्थक सड़क पर उतर आए थे लेकिन, पुलिस-प्रशासन की मुस्तैदी के कारण उन्हें तत्काल ही गिरफ्तार कर बसों से अस्थाई पुलिस कैंप ले जाया गया। जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से 506 बंद समर्थकों की गिरफ्तारी हुई। दोपहर 12 बजे पुलिस ने सभी को छोड़ दिया।

सड़कों पर सुबह से थी पुलिस बलों की तैनाती

बंद के मद्देनजर पुलिस बलों की भारी बंदोबस्त था। शहर के सभी मुख्य सड़कों पर मजिस्ट्रेट के रुप में प्रशासनिक पदाधिकारी और पुलिस अधिकारी तैनात रहे। वहीं, वरीय अधिकारी सुबह से ही गश्ती कर रहे थे। वाटर कैनन वाहन, पुलिस वज्र वाहन सहित पुलिस बलों की तैनाती की गई थी।

विपक्ष समन्वय समिित के बुलाए गए बंद के दौरान शहर के सुभाष चौक में वाहनों को रोक कर सड़क जाम करते समर्थक।

बंद समर्थकों ने की भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधन वापस लेने की मांग : मेन रोड सुभाष चौक में झामुमो के जिलाध्यक्ष बिनोद किस्कू, चित्रगुप्त महतो, पवन करमाली, मुमताज मंसूरी, कांग्रेस के एआईसीसी सदस्य शहजादा अनवर, जिलाध्यक्ष मुन्ना पासवान, बलजीत सिंह बेदी, शांतनु मिश्रा, राजकुमार यादव, मिथिलेश गुप्ता, रणधीर गुप्ता, झाविमो के राजीव जायसवाल, वसुध तिवारी, अजित गुप्ता, सीपीआई के महेंद्र पाठक, माले के जिला सचिव भुनेश्वर बेदिया, हीरा गोप, देवकीनंदन बेदिया, देवानंद गोप, विगेंद्र ठाकुर, जयनंदन गोप, अमल कुमार, लक्ष्मण बेदिया सहित अन्य दलों के नेता व कार्यकर्ता जुटे। सभी शांतिपूर्ण बंद के तहत सड़क जाम कर दिया। यहां, सभी नेता, कार्यकर्ता व बंद समर्थकों ने राज्य सरकार से भूमि अधिग्रहण बिल वापस लेने की मांग की। वहीं, जनविरोधी नीतियों को लेकर सरकार के खिलाफ नारे लगाए। माले के लालकुमार बेदिया, कामेश्वर महतो, राजेश मुंडा, फूलचंद बेदिया, लाका बेदिया, राजेंद्र राम, पहलु करमाली, राज कुमार करमाली, पवन गोप, वृजनारायण मुंडा, छोटन मुंडा, आलोक ठाकुर, लालचंद ठाकुर, दीपन महतो, दिलेश्वर महतो, जलेश्वर महतो, योगेंद्र मुंडा, कामू मुंडा, तृतियाल बेदिया, सरयू बेदिया, रामवृक्ष बेदिया भी इसमें शामिल थे।

सुभाष चौक में बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे विपक्षी दलों के नेता व कार्यकर्ता।

गिरफ्तार करने के तुरंत बाद छोड़ दिए गए समर्थक : डीएसपी

रामगढ़ जिला पुलिस मुख्यालय डीएसपी डॉ. वीरेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि जिले भर में 506 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया। जिसे बाद में छोड़ दिया गया। उन्होंने बताया कि कुजू में 140, रामगढ़ में 128, भुरकुंडा में 50, गोला में 50, मांडू में 50, पतरातू में 40, घाटोटांड़ में 25, भदानीनगर में 14, रजरप्पा में 5, बासल में 4 बंद समर्थक गिरफ्तार किए गए। जबकि, बरकाकाना में एक भी गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।