• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Ramgarh
  • पूर्व विधायक बोले : न्याय का भरोसा था, बाकी भी बाहर आएंगे
--Advertisement--

पूर्व विधायक बोले : न्याय का भरोसा था, बाकी भी बाहर आएंगे

अटल विचार मंच के संयोजक पूर्व विधायक शंकर चौधरी ने कहा कि 29 जून 2017 का दिन रामगढ़ के लिए काला दिन था। वहीं, 29 जून 2018 खुशी...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 03:45 AM IST
पूर्व विधायक बोले : न्याय का भरोसा था, बाकी भी बाहर आएंगे
अटल विचार मंच के संयोजक पूर्व विधायक शंकर चौधरी ने कहा कि 29 जून 2017 का दिन रामगढ़ के लिए काला दिन था। वहीं, 29 जून 2018 खुशी का दिन है। झारखंड उच्च न्यायालय से न्याय मिला और आठ निर्दोष गो रक्षकों को जमानत मिली है। वहीं, उन्होंने जेल में बंद अन्य चार गो रक्षकों को भी अगले सप्ताह तक जमानत मिल जाने का भरोसा जताया है। सभी को जमानत मिलने के बाद उनके परिवार वालों को लेकर रामगढ़ में िवशाल जुलूस निकाल कर विजय उत्सव मनाएंगे। उन्होंने कहा कि केस के अधिवक्ता बीएन त्रिपाठी ने उच्च न्यायालय में 45 मिनट तक अपने पक्ष को रखा और आठ निर्दोष गो रक्षकों को जमानत दिलाने में सफलता हासिल की। वे ये बातें शुक्रवार को अपने आवास में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बोल रहे थे। उन्होंने, खुद और जनता, पार्टी व अटल विचार मंच की ओर से उच्च न्यायालय का अाभार जताया। इस दौरान उन्होंने परिजनों को िमठाई भी खिलाई। मौके पर बलराम प्रसाद कुशवाहा, अशोक जैन, प्रदीप ठाकुर, उपेंद्र वर्मा, राजेंद्र शर्मा, प्रभात अग्रवाल, कालीचरण महतो, पार्वती देवी, बिनोद वर्मा, राज कुमार कुशवाहा, बिनोद कुमार, रामेश्वर महतो, नमेंद्र चंचल सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

जमानत मिलने की खुशी में परिजनों मिठाई खिलाते पूर्व विधायक शंकर चौधरी।

मामले में सांसद की भूमिका शर्मनाक : चौधरी

शंकर चाैधरी ने प्रेस वार्ता में कहा कि इस घटना में सांसद जयंत सिन्हा की भूमिका शर्मनाक रही। सांसद ने हमेशा झूठ का सहारा लेकर कहा कि मामले में हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज व सीनियर वकील को रखा गया है। लेकिन ये दोनों कोर्ट में मौजूद नहीं थे। सांसद जयंत सिन्हा ने वकील की फीस और गोरक्षकों के लिए आर्थिक मदद करने की बात कही लेकिन एक रुपए की भी मदद नहीं की। शंकर चौधरी ने कहा ऐसे जनप्रतिनिधि जो जनता के लिए काम नहीं आए, उनकी इस लोकसभा क्षेत्र में कोई जरूरत नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष बोले : सांसद के प्रयासों से मिली जमानत

भाजपा जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष शिव शंकर बनर्जी ने की प्रेस वार्ता

भास्कर न्यूज | रामगढ़

भाजपा के जिलाध्यक्ष शिव शंकर बनर्जी ने कहा कि अलीमुद्दीन मामले में 12 साथियों में से आठ को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। इसमें नित्यानंद महतो, संतोष सिंह, रोहित कुमार, कपिल ठाकुर, उत्तम राम, सिकंदर राम, राजू कुमार महतो, विक्की साव शामिल है। भाजपा को न्यायपालिका में पूर्ण विश्वास है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अन्य चार साथी छोटू वर्मा, दीपक मिश्रा, विक्रम व छोटू राणा की भी रिहाई जल्द हो जाएगी। उन्होेंने हाईकोर्ट में ही केस के समाप्त होने की उम्मीद जताई है। ये बातें उन्होंने शुक्रवार को भाजपा जिला कार्यालय में प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने मुख्यमंत्री रघुवर दास से इस मामले की सीबीआई द्वारा निष्पक्ष व व्यापक जांच का अाग्रह की थी। प्रेस वार्ता में प्रदेश कार्य समिति सदस्य प्राे संजय सिंह, सांसद प्रतिनिधि नारायण चंद्र भौमिक, रवींद्र शर्मा, रणंजय कुमार, चंद्रशेखर चौधरी, महामंत्री रंजीत पांडेय, प्रकाश मिश्रा, राजू चतुर्वेदी, छोटन सिंह, आनंद बेदिया, राजीव रंजन प्रसाद, वरुण सिंह, सहदेव ठाकुर, प्रवीण कुमार सोनू, संतराज पासवान आदि मौजूद थे।

जिला कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते भाजपा जिलाध्यक्ष पप्पू बनर्जी।

जेल में बंद रोहित का सांसद ने कराया था इलाज

उन्होंने कहा कि इस केस को लड़ रहे अधिवक्ता बीएन त्रिपाठी ने महाधिवक्ता अजीत सिन्हा व केंद्रीय मंत्री सह सांसद जयंत सिन्हा आैर पीड़ित परिवार की मुलाकात में खुल कर चर्चा हुई थी। पहले ही जमानत मिल जाती लेकिन जज अवकाश पर थे। उन्होंने कहा कि जेल में रोहित ठाकुर का स्वास्थ्य बहुत ही ज्यादा बिगड़ गया। केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा के प्रयास से रोहित का हजारीबाग सदर अस्पताल में इलाज के बाद रिम्स रेफर कराया गया। रिम्स में इलाज के दौरान उसके भाई चंदन ठाकुर से मंत्री जयंत सिन्हा निरंतर वार्ता होती रही।

X
पूर्व विधायक बोले : न्याय का भरोसा था, बाकी भी बाहर आएंगे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..