पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Mandu News The Middleman Fraudulently Got 150 Acres Of Land In Kashikhap In His Name

बिचौलिए ने फर्जीवाड़ा कर काशीखाप में 150 एकड़ भूमि अपने नाम कराया

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हेसागढ़ा पंचायत सचिवालय परिसर में शनिवार को सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत के विभिन्न क्षेत्रों से कई महिला पुरुषों ने कार्यक्रम में पहुंचकर अपनी समस्याओं को रखा। इनमें लोगों ने सबसे ज्यादा शिकायत अंचल कार्यालय मांडू से की। ग्रामीणों ने कहा कि मामूली समस्या से संबंधित शिकायतों को लेकर जब लोग अंचल कार्यालय जाते हैं तो उन्हें महीनों दौड़ाया जाता है। तोयरा निवासी सुरेशचंद्र पटेल ने कहा कि हमारे संचिका में नौ डिसमिल के बदले एक डिसमिल चढ़ गया है। जिसका सुधार के लिए कार्यालय में आवेदन देने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इसी प्रकार लोगों ने काशीखाप में 150 एकड़ और बोंगाहारा में 140 एकड़ जमीन बिचौलिए द्वारा फर्जी तरीके से अपने नाम कर लिया है। ग्रामीणों ने मामले की जांच कर रैयतों के प्रति इंसाफ करने की बात कही। मामले को गंभीरता से लेते हुए डीडीसी संजय कुमार सिन्हा ने मांडू सीओ की क्लास लेते हुए उपरोक्त सभी समस्याओं का शीघ्र निपटारा कर जिला कार्यालय को रिपोर्ट करने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि जमीन से संबंधित मामले को निपटाने के लिए सभी कर्मचारियों को अपने तहसील भवन में बैठकर ग्रामीणों के समस्याओं का निपटारा करने का निर्देश दिया है। मौके पर भू अर्जन पदाधिकारी अनवर हुसैन, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी नखिकेता, बीडीओ मनोज कुमार गुप्ता, सीओ राकेश कुमार श्रीवास्तव, प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. अशाेक राम, बीईईओ डाॅ. विजय कुमार, सीडीपीओ आरती कुमारी, एमओ मंजू कुमारी, प्रखंड कृषि पदाधिकारी समीरन मजुमदार, कनीय अभियंता संतोष कुमार रवि, सीआई संजीव भारती समेत जिला व प्रखंड के सभी विभागों के पदाधिकारी मौजूद थे।

वृद्धा व विधवा पेंशन के लिए आए कई आवेदन

कार्यक्रम के तहत ग्रामीणों में दिव्यांग गणेश किस्कू ने विगत दो वर्षाे से प्रोत्साहन राशि नहीं मिलने की बात कही। वहीं काशीखाप के सोहराय मांझी ने अब तक वृद्धा पेंशन नहीं मिलने का आरोप लगाया। बीडीओ मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रखंड कार्यालय में वृद्धा, विधवा एवं विकलांगता पेंशन पाने के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। उन्होंने ग्रामीणों से उपरोक्त योजना का लाभ पाने के लिए तत्काल जनता दरबार में फार्म जमा करने की बात कही।

प्रज्ञा संचालक पर रिश्वत लेने का आरोप

ग्रामीण पन्नालाल मुर्मू ने अपने पुत्र का जाति एवं आवासीय प्रमाण बनाने के बदले कुजू प्रज्ञा संचालक के ऊपर एक हजार रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया। वहीं विशाल टुडू ने भी उपरोक्त यही दस्तावेज बनाने के बदले प्रज्ञा संचालक द्वारा 200 रुपए रिश्वत लेने की बात कही। ग्रामीणों की बात सुनते ही डीडीसी ने पैसे लेने वाले ऐसे प्रज्ञा संचालकों को तुरंत रद्द करने का निर्देश दिया।

एनएच के लिए भूमि अधिग्रहण में हुए घोटाले का उठा मामला

झामुमो नेता राजकुमार महतो ने जिला व प्रखंड प्रशासन से बीस माइल एनएच 33 अधिग्रहण में करोड़ों की राशि भुगतान में हुए घोटाला का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि रैयत बीते तीन वर्षों से अपने पैसे के लिए कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं। वहीं मामले में शामिल बाबू लोग बेखौफ जिला व प्रखंड के कई विभागों का कार्य संभालने में जुटे हुए हैं। इससे कई रैयतों की मानसिक स्थिति गड़बड़ा गई है।

लोगों को जानकारी देते डीडीसी व अन्य पदाधिकारी।
खबरें और भी हैं...