धोखाधड़ी / रिम्स में एमबीबीएस में एडमिशन कराने के नाम पर 23 लाख ठगा

रिम्स। (फाइल) रिम्स। (फाइल)
X
रिम्स। (फाइल)रिम्स। (फाइल)

  • छत्तीसगढ़ के शैलेंद्र एडमिशन के लिए डायरेक्टर से मिले, तब हुआ खुलासा

दैनिक भास्कर

Oct 13, 2019, 10:49 AM IST

रांची. रिम्स में एमबीबीएस में एडमिशन के नाम पर छत्तीसगढ़ के एक शिक्षक शैलेंद्र सिंह बैस से 23 लाख की ठगी का मामला सामने आया है। शैलेंद्र सिंह ने चुटिया थाना में आरोपी परिवेश बैठा और राजवीर सिंह के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, शैलेंद्र सिंह का संपर्क आरोपी राजवीर सिंह से मोबाइल पर एसएमएस के जरिए हुआ।

 

शैलेंद्र ने अपनी बेटी का रिम्स में एमबीबीएस में एडमिशन कराने की बात राजबीर सिंह से की। 23 लाख में एडमिशन कराने की बात कही। चार अक्टूबर को वे छत्तीसगढ़ से रांची अपनी बेटी के सभी दस्तावेज लेकर पहुंचे। आरोपी उनसे सभी दस्तावेज लेकर रिम्स में जमा किए और 14300 रुपए का एक भरी हुई रसीद भी दी। शैंलेंद्र सिंह ने बताया कि उनकी पत्नी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेत्री है।

 

पूरा पैसा लेने के बाद फरार
4 अक्टूबर को शैलेंद्र ने आरोपी राजवीर को बरियातू के एक होटल में 15 लाख दिए। आरोपी ने कहा कि एक वेलकम लेटर पहुंचेगा तो 8 लाख देने होंगे। 10 को फर्जी वेलकम लेटर पहुंचा। 12 को एडमिशन कराने रांची पहुंचे। चुटिया के होटल बोधराज में ठहरे। शैलेंद्र सिंह एडमिशन के लिए रिम्स जाने वाले थे। उसी दौरान आरोपी राजवीर सिंह ने कहा कि जब तक पैसे नहीं देंगे, एडमिशन नहीं होगा। तब आठ लाख भी दे दिए।

 

चुटिया थाना में दो आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज
शैलेंद्र सिंह जब रिम्स एडमिशन के लिए पहुंचे। जहां डायरेक्टर से मिलने पर पता चला कि आरोपी द्वारा दिए गए एडमिशन के सभी दस्तावेज फर्जी है। चुटिया थाना में मामला दर्ज कराया गया है। आरोपी परिवेश बैठा शैलेंद्र सिंह को मोबाइल नंबर 9851295111, 9088979706 व राजवीर सिंह 704419138 से लगातार फोन करता रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना