--Advertisement--

पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और उनकी MLA पत्नी निर्मला देवी को बेल, झारखंड आने पर रोक

कोर्ट ने शर्त रखी कि जब तक मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो जाती, तब तक वे झारखंड नहीं जाएंगे।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 06:44 AM IST
पूर्व मंत्री योगेंद्र साव। पूर्व मंत्री योगेंद्र साव।

हजारीबाग. पूर्व मंत्री योगेंद्र साव और उनकी पत्नी विधायक निर्मला देवी को सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सशर्त जमानत दे दी। जस्टिस एसए बोबड़े व जस्टिस एल नागेश्वर राव की कोर्ट ने शर्त रखी कि जब तक मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो जाती, तब तक वे झारखंड नहीं जाएंगे। उन्हें भोपाल में रहना होगा। पासपोर्ट भी जमा कराना होगा। गवाहों को प्रभावित नहीं करेंगे। हालांकि, जब विधानसभा सत्र चलेगी, तब निर्मला देवी को पुलिस के साथ झारखंड आने की छूट रहेगी।

मामला अक्टूबर 2016 में हुए चिरूडीह गोलीकांड से जुड़ा है। एनटीपीसी द्वारा ट्रांसपोर्टिंग का काम शुरू करने के खिलाफ निर्मला देवी कफन सत्याग्रह चला रही थीं। पुलिस ने विधायक को गिरफ्तार कर लिया। तभी समर्थक भड़क गए। पुलिस से झड़प हुई। पुलिस फायरिंग में चार लोग मारे गए थे।