Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» BJP State President Laxman Singh Gilua And Bishop On Patthalgarhi

BJP स्टेट प्रेसिंडेंट- पत्थलगड़ी के पीछे चर्च का दिमाग और पैसा, बिशप ने दिया दो टूक जवाब

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह गिलुवा ने कहा कि चर्च के लोग अंग्रेजों के ही तो नुमाइंदे हैं।

विनय चतुर्वेदी | Last Modified - Mar 05, 2018, 02:12 AM IST

  • BJP स्टेट प्रेसिंडेंट- पत्थलगड़ी के पीछे चर्च का दिमाग और पैसा, बिशप ने दिया दो टूक जवाब
    +1और स्लाइड देखें
    लक्ष्मण गिलुवा रविवार को भास्कर से बातचीत कर रहे थे।

    रांची(झारखंड).बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि पत्थलगड़ी के वर्तमान स्वरूप के पीछे चर्च का दिमाग और धन है। पहले हम पुरखों की याद में पत्थलगड़ी करते थे। अब इसी बहाने चर्च ने राष्ट्रविरोधी गतिविधियां बढ़ा दी हैं। उसने इसके लिए हजारों करोड़ रुपए की योजना बनाई है। आदिवासी सीधे-सादे और गरीब हैं। शिक्षा से थोड़ी दूर हैं। इसी वजह से चर्च नाजायज लाभ उठाता है। लक्ष्मण गिलुवा रविवार को भास्कर से बातचीत कर रहे थे। उधर, रांची के ऑक्जिलियरी बिशप तेलेस्फोर बिलुंग से जब इस संबंध में बात की तो उन्होंने कहा कि आरोप लगाना तो बीजेपी का पुराना काम रहा है।

    चर्च के लोगों को बताया अंग्रेजों का नुमाइंदा
    गिलुवा ने कहा, लगता है कि चर्च की कोई दूरगामी योजना है। वे अपनी संख्या तो बढ़ा ही रहे हैं, हमारे समाज, राज्य और देश के विरोध में प्रचार कर विषाक्त माहौल भी बना रहे हैं। देश को आजादी दिलाने में आदिवासियों ने काफी खून बहाया है। अंग्रेजों के खिलाफ बिरसा मुंडा, सिदो-कान्हू, नीलांबर-पीतांबर आदि का संघर्ष ऐतिहासिक है। अब देखिए, उन अंग्रेजों को तो हमने भगा दिया। देश को आजाद करा दिया, पर आज भी कहीं न कहीं वे अंग्रेज हमारे यहां हैं। चर्च के लोग उन अंग्रेजों के ही तो नुमाइंदे हैं, जो हमारे बीच विवाद के बीज बो रहे हैं। धर्मांतरण बिल लाकर सरकार ने सरना आदिवासियों के पक्ष में कदम उठाया है। इसी वजह से वे सरकार के खिलाफ काम कर रहे हैं।

    खूंटी की पत्थलगड़ी सरना समाज से अलग
    गिलुवा ने कहा कि खूंटी और बंदगांव क्षेत्र में जो पत्थलगड़ी हो रही है, वह सरना समाज की पत्थलगड़ी से अलग है। पत्थलगड़ी करने वाले नहीं चाहते कि उनके गांव में बाहरी व्यक्ति आए। इसका सबसे बड़ा कारण है अफीम की खेती।

    अब खूंटी के सोनपुर गांव में पत्थलगड़ी

    खूंटी के अड़की डिविजन के सोनपुर गांव में रविवार को पत्थलगड़ी की गई। पहले पाहन ने पूजा-अर्चना की। फिर समाजसेवी डॉ. जोसेफ पूर्ति ने फीता काटकर पत्थलगड़ी का उद्घाटन किया।

    क्या है पत्थलगड़ी?

    पत्थलगड़ी आदिवासी समाज की परंपरा है, जिसके जरिए से गांव का सीमांकन किया जाता है, लेकिन अब इसी की आड़ में गांव के बाहर अवैध ढंग से पत्थलगड़ी की जा रही है। पत्थर पर ग्राम सभा का अधिकार दिलाने वाले भारतीय संविधान के अनुच्छेदों (आर्टिकल) की गलत व्याख्या करते हुए ग्रामीणों को आंदोलन के लिए उकसाया जा रहा है।

    ये भी पढ़ें-

    DB SPL: पीएम हों या सीएम, झारखंड के 4 जिलों के 34 गांवों में बिना इजाजत घुस नहीं सकते

    यहां दिन में भी जाने में लगता है डर, पुलिसवाले का पीट-पीट कर किया ये हाल

  • BJP स्टेट प्रेसिंडेंट- पत्थलगड़ी के पीछे चर्च का दिमाग और पैसा, बिशप ने दिया दो टूक जवाब
    +1और स्लाइड देखें
    अब खूंटी के सोनपुर गांव में पत्थलगड़ी।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: BJP State President Laxman Singh Gilua And Bishop On Patthalgarhi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×