--Advertisement--

देवर से नहीं देखी गई विधवा भाभी की सूनी मांग, प्रपोज कर यूं रचाई शादी

सैकड़ों गांववालों की मौजूदगी में दोनों एक-दूसरे को माला पहनाकर शादी बंधन में बंध गए।

Dainik Bhaskar

Jan 01, 2018, 05:35 AM IST
शादी की रस्म निभाते मुकेश महतो शादी की रस्म निभाते मुकेश महतो

धनबाद(झारखंड). पुराने साल के अंतिम दिन रविवार को हर कोई यादगार बनाने में जुटा था। कोई ने पिकनिक का लुत्फ उठाया तो किसी ने बीते साल के गिले-शिकवों को दूर किया। इन सबके बीच कुछ लोग ऐसे भी थे जो सामाजिक बंधनों को तोड़ते हुए नई इबारत लिखने की कोशिश में जुटे थे। सरिया में एक गैरशादीशुदा देवर ने अपनी विधवा भाभी से शादी कर उसके बच्चों को अपनाया।

भाभी से शादी का प्रपोज रखा तो भाभी हो गई तैयार

- सरिया के चिरुवां पंचायत में कानाडीह गांव के रहने वाले मुकेश महतो ने साल के आखिरी दिन अपनी विधवा भाभी से शादी कर नई जिंदगी की शुरुआत की।

- गुड़िया के पति तुलसी महतो की मौत एक साल पहले मुंबई में पेट की बीमारी की चपेट में आने से हो गई थी। इसके बाद से ही वो अपने दो बच्चों के साथ अकेली जिंदगी गुजार रही थी।

- 23 साल के मुकेश को विधवा भाभी की सूनी मांग और उसकी उदासी देखी नहीं गई। तब उसने गुड़िया की जिंदगी को खुशहाल बनाने की ठानी। भाभी से शादी का प्रपोज रखा तो भाभी तैयार हो गई।

- परिजनों और समाज के लोगों की इजाजत मिलने के बाद रविवार को नए साल से एक दिन पहले दोनों ने शादी रचा ली। सैकड़ों गांववालों की मौजूदगी में दोनों एक-दूसरे को माला पहनाकर शादी बंधन में बंध गए।

- दोनों के इस फैसले से बच्चे भी खुश हैं। गुड़िया देवी को पहले पति से दो बेटे हैं, जिनकी उम्र 10 साल और 8 साल है।

X
शादी की रस्म निभाते मुकेश महतोशादी की रस्म निभाते मुकेश महतो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..