--Advertisement--

स्कूल बस का ड्राइवर बिना लाइसेंस चला रहा था गाड़ी, कंडक्टर था नशे में धुत

100 स्कूल बसों के ड्राइवर-कंडक्टर की हुई जांच में आया सामने।

Danik Bhaskar | Dec 08, 2017, 08:30 AM IST
सहजानंद चौक पर स्कूल बसों के ड सहजानंद चौक पर स्कूल बसों के ड

रांची. ट्रैफिक पुलिस और डीटीओ रांची ने गुरुवार को सहजानंद चौक पर स्कूल बसों के ड्राइवर-कंडक्टर के लिए ड्रंक एंड ड्राइव अभियान चलाया। 100 स्कूल बसों के ड्राइवर और कंडक्टर की ब्रेथ एनेलाइजर से जांच की गई। जांच में केरलि स्कूल का बस कंडक्टर सुकरा उरांव नशे में मिला। उसमें अलकोहल की मात्रा 349 एमजी मिली, जबकि 30 एमजी से अधिक अलकोहल होने पर ट्रैफिक पुलिस उस पर जुर्माना लगाती है। उसे गोंदा थाने के हवाले कर दिया गया। मनन विद्या का बस ड्राइवर रोहित होरो बिना लाइसेंस के विंगर गाड़ी में बच्चों को ले जाते धराया। इस मामले में डीटीओ रांची नागेंद्र पासवान ने स्कूल प्रबंधन को शो कॉज कर हफ्ते भर में जवाब मांगा है। अगर जवाब संतोषप्रद नहीं मिला,तो स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जांच में ट्रैफिक डीएसपी वन दिलीप खलखो, ट्रैफिक इंस्पेक्टर सहित जवान शामिल थे।

दो घंटे तक हुई जांच, पिछली बार की तुलना में कम मिले नशे में

तीन महीने पहले सहजानंद चौक पर ही स्कूल बसों की जांच हुई थी। इसमें चार बस ड्राइवर व कंडक्टर नशे में मिले थे। इसके बाद सभी स्कूलों के बस प्रबंधकों के साथ ट्रैफिक पुलिस ने बैठक की थी। जिसमें निर्देश दिया गया था कि स्कूल ऑवर में कोई भी बस ड्राइवर या कंडक्टर नशे में मिलता है, तो प्रबंधन पर कार्रवाई होगी। इसके बाद से ड्राइवर-कंडक्टर फिट मिल रहे हैं।

स्कूल बसों की होगी फिटनेस जांच

सहजानंद चौक के पास जांच में बच्चों से भरी केरलि स्कूल की एक बस मिली, जिसका टायर फटा हुआ था। डीटीओ ने एमवीआई को केरलि स्कूल की बसों की फिटनेस जांच करने का निर्देश दिया है। बिशप वेस्टकॉट की भी बस फिट नहीं मिली। एक बस जो 15 वर्ष से पुरानी थी, उसे सीज कर स्कूल प्रबंधन को शो कॉज किया गया है।