--Advertisement--

पत्थलगड़ी पर राष्ट्रविरोधी ताकतें गुमराह कर रही हैं, उन्हें जेल भेजेंगे : सीएम रघुवर दास

सीएम ने कहा कि कुछ लोग पत्थलगड़ी का नाजायज फायदा उठाकर जनजातीय लोगों को गुमराह कर रहे हैं।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 08:02 AM IST
संगोष्ठी से पहले सीएम ने बिरसा संगोष्ठी से पहले सीएम ने बिरसा

सिमडेगा. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि कुछ लोग पत्थलगड़ी का नाजायज फायदा उठाकर जनजातीय लोगों को गुमराह कर रहे हैं। पत्थलगड़ी के नाम पर विकास विरोधी ताकतें लोकतंत्र को चुनौती दे रही हैं। ऐसी राष्ट्रविरोधी ताकतों की पहचान की जाएगी। कानून उन्हें कहीं से भी खोजकर निकाल लेगा। कोई कितनी भी बड़ी हस्ती हो, मुंबई या अमेरिका से भी ढूंढ़ निकालेंगे। उन्हें लाकर होटवार जेल में बंद कर देंगे। मुख्यमंत्री शुक्रवार को यहां नगर भवन में बजट पूर्व संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।


उन्होंने कहा कि विकास को अवरुद्ध करने वालों को कोई छूट नहीं दी जाएगी। राज्य में अंग्रेजों के कुछ लोग हैं। उन्हें भी चिह्नित करना है। राष्ट्रविरोधी शक्तियों को एक्सपोज करना है। मीडिया भी सिर्फ समाचार न बनाए, ऐसे देश विरोधियों को भी सामने लाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरशाही में निचले स्तर पर लालफीताशाही खत्म नहीं हो पा रही है। मेरा बस चले तो सरकारी मशीनरी से काम वापस लेकर सब काम जनता को सौंप दें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग कोल्ड स्टोरेज बनाएं। उसकी आमदनी से कोल्ड स्टोरेज का मेंटेनेंस करें। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक राज्य के हर बीपीएल परिवार को रोजगार से जोड़ दिया जाएगा। फिर धीरे-धीरे सब्सिडी बंद कर दी जाएगी।

प्रखंडों में कोल्ड रूम, जिले में कोल्ड स्टोरेज

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी प्रखंडों में एक-एक कोल्ड रूम बनाए जाएंगे। हर जिला मुख्यालय में कोल्ड स्टोरेज बनेगा। अगले बजट में इसके लिए राशि का प्रावधान किया जाएगा। कोल्ड रूम और कोल्ड स्टोरेज बनने से ग्रामीण क्षेत्र में फलों, सब्जियों और अन्य वनोत्पादों को लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकेगा। इससे किसानों को लाभ होगा।

त्रुटिपूर्ण शिक्षा नीति से हुआ नुकसान

रघुवर दास ने कहा कि त्रुटिपूर्ण शिक्षा नीति के कारण बहुत नुकसान हुआ है। अब स्कूलों में अच्छे पाठ्यक्रम बनाए जाएंगे। इसमें नैतिक शिक्षा के साथ ही महापुरुषों की जीवनी को भी शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बजट पूर्व संगोष्ठी सरकार और जनता के बीच की दूरी घटाने वाला कदम है। पहले बंद कमरे में बैठकर बजट बनाया जाता था। अब हर चीज में जनता की भागीदारी हो रही है।

...और अब भगवा क्रांति करनी है

सीएम ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को अनुदानित दर पर गाय दी जाएगी और श्वेत क्रांति लाई जाएगी। राज्य में तीसरी क्रांति भी करनी है। वह है भगवा क्रांति। उन्होंनेे कहा कि गांव-गांव में बिजली पहुंचेगा। भगवा रंग की रोशनी वाला बल्ब जलेगा। यही भगवा क्रांति है। इसका दूसरा अर्थ न लगाएं।