Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Dacoity After Entering Into House

खिड़की तोड़कर घर में घुसे 10 डकैत, लोगों को बंधक बनाकर लूटे तीन लाख

डकैतों की संख्या लगभग 10 थी। 6 डकैत घर के अंदर घुसे थे, जो पिस्टल एवं अन्य घातक हथियार से लैस थे।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 08:14 AM IST

  • खिड़की तोड़कर घर में घुसे 10 डकैत, लोगों को बंधक बनाकर लूटे तीन लाख
    +1और स्लाइड देखें
    घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस डॉग स्क्वायड लेकर जांच करने मौके पर पहुंची।

    बोकारो(झारखंड).दुग्दा थाना क्षेत्र के दुर्गा काॅलोनी निवासी अविनाश कुमार के घर डकैतों ने पिस्टल दिखाकर 22 हजार नगद समेत करीब तीन लाख रुपए मूल्य के सोने-चांदी के जेवरात लूट लिए। घटना मंगलवार-बुधवार की रात की है। डकैत घर के पीछे की खिड़की तोड़कर अंदर प्रवेश किए और सो रहे गृहस्वामी अविनाश कुमार के छोटे भाई पप्पू पासवान, उनकी मां कौशल्या देवी, पत्नी मनीषा देवी समेत बच्चों को जगाकर एक कमरे में कैद कर चुपचाप रहने के लिए कहा। अंदर घुसते ही घर के सदस्यों के मोबाइल को अपने कब्जे में ले लिया। इसमें से एक मोबाइल का सिम व बैटरी निकाल कर फेंक दिया। जो बाद में घर के बाहर मिला। डकैतों ने अविनाश कुमार एवं पप्पू पासवान के हाथ पीछे कर बांध दिये थे। सबको धमकी भी दी कि हमलोग आप लोगों को कुछ नहीं करेंगे, कहां-कहां पैसे व जेवरात रखे हो, बता दो। इसके बाद लूटपाट की।

    जेवरात लेकर फरार
    डकैतों ने अविनाश कुमार से 15 हजार रुपए, मां कौशल्या देवी से 3 हजार, पत्नी मनीषा देवी से 4 हजार रुपए और घर के गोदरेज में रखे सोने-चांदी के कीमती जेवरात चाभी लेकर निकाल लिए। चोरों ने सोने की 4 चेन, 4 अंगूठी, 8 कान की बाली, 2 झुमका, 1 जोड़ी सोने की चूड़ी, मठिया चांदी की 8 पीस, सोने का मांगटीका 2, हाथ घड़ी समेत करीब तीन लाख मूल्य की जेवरात लेकर फरार हो गए।

    अविनाश को खोज रहे थे
    पप्पू पासवान ने बताया कि डकैतों ने कहा कि अविनाश कुमार की तलाश है। अविनाश एडलवाइज टोकियो कंपनी में डेवलपमेंट मैनेजर हैं। वे धनबाद से कंपनी की मीटिंग में शामिल होकर लगभग 12 बजे अपने घर पहुंचे थे। पासवान ने बताया कि डकैतों की संख्या लगभग 10 थी। 6 डकैत घर के अंदर घुसे थे, जो पिस्टल एवं अन्य घातक हथियार से लैस थे। डकैतों की उम्र 25 से 30 के बीच होगी। जो हिन्दी व खोरठा भाषा का प्रयोग कर रहे थे। सभी डकैत मंकी टोपी पहने हुए थे।

    मोबाइल से दी थाने में सूचना
    घटना की सूचना गृह स्वामी अविनाश कुमार ने पड़ोसी के मोबाइल से दुग्दा थाने को दी। 15 मिनट के अंदर ही दुग्दा पुलिस का गश्ती दल दुर्गा काॅलोनी पहुंचा। तब तक डकैत भाग चुके थे। बुधवार को खोजी कुत्ते का सहारा लिया गया। खोजी कुत्ता पासवान के घर से चल कर हाई स्कूल के मैदान तक आकर रूक गया। बेरमो पुलिस निरीक्षक ने निर्देश दिया।

  • खिड़की तोड़कर घर में घुसे 10 डकैत, लोगों को बंधक बनाकर लूटे तीन लाख
    +1और स्लाइड देखें
    लूट के बाद घर पर बिखरा पड़ा सामान।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×