Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Ex Minister Anos Ekka Wife Interrupts Road Work

पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी ने रोड का काम रुकवाया, बाेली -मेरी जमीन पर रोड कैसे?

हत्या के आरोप में जेल में बंद पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी हैं मेनन एक्का।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 31, 2017, 08:35 AM IST

पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी ने रोड का काम रुकवाया, बाेली -मेरी जमीन पर रोड कैसे?

रांची.हत्या के आरोप में जेल में बंद पूर्व मंत्री एनोस एक्का की पत्नी मेनन एक्का ने शनिवार दोपहर बाद विकास के पास रिंग रोड का निर्माण कार्य रुकवा दिया। वे अपने चार-पांच लोगों के साथ वहां पहुंचीं। काम करा रहे ठेकेदार से पूछा- मेरी जमीन पर रोड कैसे निकाल रहे हो। किसकी इजाजत से बना रहे हो। अभी काम बंद करो। ठेकेदारों ने कहा- भू-अर्जन विभाग की ओर से क्लीयरेंस मिल गया है, इसलिए सड़क का निर्माण कार्य कराया जा रहा है।

ठेकेदारों का जवाब सुन मेनन भड़की

ठेकेदारों का जवाब सुन मेनन भड़क गईं। चिल्लाने लगीं, कौन है भू-अर्जन पदाधिकारी, बुलाओ उसे। बगैर हमसे पूछे रोड बनाया, तो ठीक नहीं होगा। रोड का काम रुकवाने की जानकारी जैसे ही बूटी ओपी पुलिस को मिली, प्रभारी पप्पू कुमार पुलिस बल के साथ निर्माण स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने मेनन से बात की, समझाया। कहा, जमीन आपकी है, तो कागजात लेकर आएं। संबंधित अधिकारी से बातचीत करें।

मेनन का दावा- विकास में है उनकी पांच एकड़ जमीन

मेनन एक्का ने बूटी ओपी प्रभारी को बताया कि उनकी पांच एकड़ जमीन है, जिससे होकर रिंग रोड निकाला जा रहा है। रैयत ने किसी दूसरे को जमीन बेची थी। उनसे हमने जमीन खरीदी है। अब यह जमीन मेरी है। यदि क्लीयरेंस लेना है, तो मुझसे लेना होगा। मुझसे बात किए बिना कैसे जमीन पर निर्माण कार्य शुरू किया गया। ओपी प्रभारी ने उन्हें समझा-बुझा कर शांत कराया।

एनएचएआई ने कहा- रैयत को दे दिया है मुआवजा

एनएचएआई के अधिकारियों ने कहा कि जिस जमीन से होकर रिंग रोड निकाला जा रहा है, उसके रैयत को मुआवजे का भुगतान किया जा चुका है। एनएचएआई को जमीन का क्लीयरेंस मिल चुका है, जिसके बाद निर्माण कार्य कराया जा रहा है। जिस जमीन पर एनोस एक्का की पत्नी अपना मालिकाना हक जता रही हैं, उस पर एनएचएआई ने फिलहाल काम बंद कर दिया है। मामला बढ़ता देख भू-अर्जन पदाधिकारी को बुलाया गया, लेकिन किसी दूसरे काम में व्यस्त होने के कारण वे नहीं आ सके। अब भू-अर्जन पदाधिकारी से पता लगाया जाएगा कि जमीन किसकी है और किसे मुआवजा दिया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: purv Mantri enos ekka ki patni ne rod ka kam rukvaayaa, baaeli -meri jmin par rod kaise?
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×