रांची

--Advertisement--

ग्रेड IX भर्ती एग्जाम में गड़बड़ी मामले के आरोपी की मौत, परिजनों ने बताया हत्या

पलामू जिला प्रशासन ने 5 नवंबर को लिखित परीक्षा हुई थी। इसके बाद यह संदेह के घेरे में आ गई।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 07:31 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

रांची(मेदिनीनगर). चतुर्थवर्गीय कर्मचारी नियुक्ति में गड़बड़ी मामले के एक आरोपी सुनील सिंह की बुधवार को रिम्स में मौत हो गई। सिंगरा गांव के 42 वर्षीय सुनील सिंह सर्वशिक्षा अभियान पलामू में कार्यरत थे। परिजनों का आरोप है कि षड्यंत्र के तहत उनकी हत्या की गई है।

60 कैंडिडेट्स को जेल भेज दिया

- पलामू जिला प्रशासन ने पांच नवंबर को लिखित परीक्षा हुई थी। इसके बाद यह संदेह के घेरे में आ गई। प्रशासन ने सफल अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग की और 60 अभ्यर्थियों को जेल भेज दिया।

- छह दिसंबर की रात करीब एक बजे पुलिस ने सुनील सिंह के घर पर छापेमारी की। पुलिस के आते ही वह तीन मंजिला छत से कूद गए। उनका पैर टूट गया। रातभर वह वैसे ही पड़े रहे। अगले दिन परिजनों ने सदर अस्पताल पहुंचाया। डीएसपी प्रेमनाथ और थाना प्रभारी तरुण कुमार ने अस्पताल में उनसे पूछताछ की। यहां से उन्हें रिम्स रेफर कर दिया गया था।

भाई बोला- षडयंत्र के तहत फंसाया गया
- सुनील सिंह के भाई अनिल सिंह ने कहा कि रिम्स आने के बाद से ही उनकी हालत बिगड़ती जा रही थी। परिजनों से भी मिलने नहीं दिया जा रहा था। 12 दिसंबर की रात में बताया गया कि उनकी हालत नाजुक है। और 13 दिसंबर को मौत की सूचना दी।

- उन्होंने कहा कि मेरे भाई को षडयंत्र के तहत फंसाया गया है। इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। वहीं भाकपा के जिला सचिव रूचीर कुमार तिवारी ने कहा कि पुलिस के आतंक से सुनील की मौत हुई है।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Click to listen..