--Advertisement--

मां-बाप और पति की मौत के बाद ऐसे मिला मूवी में रोल, बताया ये है सक्सेस का राज

पति की मौत के बाद पूरी तरह टूट चूकी लेडी ने एक बार फिर एक्टिंग की ऊंचाइयों पर चढ़ना शुरू किया।

Dainik Bhaskar

Mar 15, 2018, 03:45 AM IST
फिल्म के एक दृश्य में संजय मिश्रा के साथ मधु रॉय। फिल्म के एक दृश्य में संजय मिश्रा के साथ मधु रॉय।

रांची. सेना में बहाली के नाम पर झारखंड के मासूम लड़कों को नक्सली बनाना और सरेंडर कराने का खेल करने वाली निजी संस्थाओं का भंडाफोड़ तो हो चुका है। लेकिन, अब इसी सबजेक्ट पर लोहरदगा के लाल विजय नाथ शाहदेव ने मनु का सरेंडर नामक बॉलीवुड फिल्म बनाई है। फिल्म जल्द ही देशभर के सिनेमाघरों में आने वाली है। रांची के कई कलाकार फिल्म में अहम भूमिका निभाएं हैं। इनमें एक अदाकारा हैं मधु रॉय। फिल्म में बॉलीवुड के जाने-माने कलाकार संजय मिश्रा की पत्नी की भूमिका में ये नजर आएंगी। इस फिल्म को लेकर मधु उत्साहित हैं। भास्कर से बात करते हुए मधु ने अपनी आनेवाली कई फिल्मों के बारे में जानकारी साझा की। पहले मां-बाप और बाद में पति की मौत के बाद पूरी तरह टूट चूकी मधु एक बार फिर एक्टिंग की ऊंचाइयों पर चढ़ना शुरू कर चुकी है।

कलाकार की कोई भाषा नहीं होती है

- घर के हालात ने उसे मुंबई से दूर कर दिया, लेकिन कला के प्रति उनका लगन उन्हें फिल्म की ओर प्रेरित करती है। पांच साल की बेटी के साथ जिंदगी के नए सपने बून रही मधु की खासियत यह है कि वह किसी भी भाषा में एक्टिंग कर सकती हैं।
- कहती हैं कि कलाकार की कोई भाषा नहीं होती है। मधु के पास इस फिल्म के अलावा दो और फिल्में हैं। एक फिल्म के डायरेक्टर सुदीप रंजन सरकार हैं। मधु कहती हैं कि इस फिल्म में मेरा चयन होना बहुत बड़ी बात है।
- मेरी एक दोस्त ने सुदीप जी से मुझे मिलाया। उन्होंने मुझसे लंबी बातचीत की, मुझे समझा और फिर फिल्म में लिया है। फिल्म की जल्द ही शूटिंग शुरू होगी।
- सुदीप जी की फिल्में अलग हट कर होती है, जो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के लिए नोमिनेट होती हैं। इन फिल्मों के नाम हैं .. द सांग्स ऑफ बटरफ्लाई और दूसरी फिल्म है घोस्ट लिसन।

मनु का सरेंडर में काम करना बड़ी बात

- मधु ने बताया कि फिल्म मनु का सरेंडर में काम करना, बहुत बड़ी बात है। जब डायरेक्टर शाहिद ने मुझे फोन किया तो मैं भोपाल में थी। उन्होंने मुझे फ्लाइट की टिकट भेजकर रांची और फिर लोहरदगा बुलाया। फिल्म की शूटिंग शुरू हुई। - निदेशक शाहिद ने भास्कर को बताया कि मनु का सरेंडर एक ऐसी फिल्म है, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे हमारे झारखंडी किशोरों को निजी संस्थाओं ने सेना में बहाली के नाम पर ठगा।
- उनका सेना के लिए चयन करके नक्सली घोषित कर दिया और फिर उनसे सरेंडर करा रहे हैं। इसमें अखिलेंद्र मिश्रा भी हैं। हालांकि, मधु इन फिल्मों के जरिए पहली बार कैमरा के सामने नहीं आ रही।
- इससे पहले भी वह एमएस धौनी पर बनी फिल्म में नर्स की भूमिका निभा चुकी है, जो धौनी के जन्म के बाद गोद में लेकर उसके पिता पान सिंह (अनुपम खेर) को लाकर देती है।

मधु की एक छोटी बच्ची भी है। मधु की एक छोटी बच्ची भी है।
मधु रांची की रहने वाली हैं। मधु रांची की रहने वाली हैं।
मधु के मां बाप और पति की मौत हो चुकी है। मधु के मां बाप और पति की मौत हो चुकी है।
मधु रॉय मधु रॉय
X
फिल्म के एक दृश्य में संजय मिश्रा के साथ मधु रॉय।फिल्म के एक दृश्य में संजय मिश्रा के साथ मधु रॉय।
मधु की एक छोटी बच्ची भी है।मधु की एक छोटी बच्ची भी है।
मधु रांची की रहने वाली हैं।मधु रांची की रहने वाली हैं।
मधु के मां बाप और पति की मौत हो चुकी है।मधु के मां बाप और पति की मौत हो चुकी है।
मधु रॉयमधु रॉय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..