--Advertisement--

दुनिया का सबसे ऊंचा प्रेयर व्हील बनाने यहां खर्च होंगे 200 Cr, ये सुविधाएं भी होंगी

3 धर्मों के संगम स्थल मां भद्रकाली मंदिर कैंपस को 500 करोड़ रुपए से डेवलेप किया जाएगा।

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 06:37 AM IST
बौद्ध प्रेयर व्हील पर अफसरों स बौद्ध प्रेयर व्हील पर अफसरों स

रांची/चतरा. झारखंड के इटखोरी में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि तीन धर्मों के संगम स्थल मां भद्रकाली मंदिर परिसर को 500 करोड़ रुपए से विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। सरकार सांस्कृतिक व इको टूरिज्म को बढ़ावा देकर राज्य के पर्यटन स्थलों को विश्वस्तरीय स्वरूप दे रही है। यहां 200 करोड़ की लागत से विश्व का सबसे ऊंचा (30 मीटर) बौद्ध प्रेयर व्हील भी बनाया जाएगा। अभी चीन के क्वीनघाई में 26 मीटर ऊंचा प्रेयर व्हील है।

दो-तीन महीने के भीतर काम शुरू

मुख्यमंत्री शनिवार को इटखोरी पर्यटन विकास के मास्टर प्लान की समीक्षा के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भद्रकाली घाट और बुद्धघाट पर दो रिवर फ्रंट बनाए जाएंगे। बोधगया-कौलेश्वरी व इटखोरी एक सर्किट बनेगा। यहां दो-तीन महीने के भीतर काम शुरू हो जाएगा।

ये सुविधाएं भी होंगी

- मंदिर परिसर में मल्टीपर्पस हॉल, सांस्कृतिक केंद्र, सूचना केंद्र, ऑडिटोरियम व म्यूजियम बनेगा

- प्रवेश द्वार से बैट्री चलित ऑटो से बौद्ध स्तूप और कोटेश्वर मंदिर तक जाने की व्यवस्था होगी

- दोनों जगह जाने के लिए सड़कें भी बनाई जाएंगी

- हरियाली से भरपूर परिसर में फूड कोर्ट और पार्क भी होंगे।