Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Ranchi Airport Number One In Passenger Growth

पैसेंजर ग्रोथ में रांची एयरपोर्ट नंबर-1, जयंत बोले- 3 साल में तीन गुणा बढ़ी यात्रियों की संख्या

जयंत सिन्हा ने कहा कि रांची में 24 घंटे एयरपोर्ट का ऑपरेशन शुरू हो गया है। इससे एयर एंबुलेंस को फायदा होगा।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:41 AM IST

  • पैसेंजर ग्रोथ में रांची एयरपोर्ट नंबर-1, जयंत बोले- 3 साल में तीन गुणा बढ़ी यात्रियों की संख्या

    रांची.केंद्रीय नागर विमानन मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि रांची का बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पैसेंजर ग्रोथ में देश में नंबर-1 बन गया है। यहां सबसे ज्यादा 70% ग्रोथ है। इस एयरपोर्ट से वर्ष 2014-15 में 6.6 लाख यात्रियों ने अावागमन किया, जाे वर्ष 2017-18 में बढ़कर 18 लाख पर पहुंच गई है। वर्ष 2014 में यहां से 11 विमान उड़ान भरते थे। अभी इसकी संख्या 27 हो गई है। जयंत सिन्हा शनिवार को एयरपोर्ट पर मीडिया से बात कर रहे थे।


    एयरपोर्ट विस्तार के लिए रक्षा मंत्रालय से बात

    उन्होंने कहा कि रांची में 24 घंटे एयरपोर्ट का ऑपरेशन शुरू हो गया है। इससे एयर एंबुलेंस को फायदा होगा। लेट लाइट फ्लाइट उपलब्ध होंगे। एयरपोर्ट के विस्तार के लिए रक्षा मंत्रालय से बात चल रही है। 152 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई जाएगी, जिसमें एयरपोर्ट के सामने एयरफोर्स की 27 एकड़ जमीन भी है। इस जमीन पर नया टर्मिनल, मल्टी लेवल कार पार्किंग, होटल और कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाने की योजना है।

    जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा अभी नहीं

    उड़ान कार्यक्रम के तहत सबसे पहले जमशेदपुर से कोलकाता के बीच विमान सेवा शुरू होने वाली थी, लेकिन यह मामला अटक गया। एयर डेक्कन की फ्लाइट 15 फरवरी से शुरू होने वाली थी। विमान आ गया था। फाइनल टेक्निकल फ्लाइट ट्रायल में बाधा आ गई।

    दुमका-बोकारो से भी शुरू होगी उड़ान


    दुमका से काेलकाता व रांची और बोकारो से पटना, रांची के लिए भी उड़ान के तहत विमान सेवा शुरू होगी। लेकिन यहां भी जमीन का मामला फंसा है।

    टाटा-कोलकाता विमान सेवा की फिलहाल संभावना नहीं

    उड़ान कार्यक्रम के तहत सबसे पहले जमशेदपुर से कोलकाता के बीच विमान सेवा शुरू होनेवाली थी, लेकिन अब यह मामला अटक गया, कब शुरू होगा? यह मंत्री को भी नहीं पता। इस मामले में केंद्रीय नागर विमानन मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा मैंने खुद रुचि ली थी। एयर डेक्कन की सेवा 15 फरवरी से शुरू होने वाली थी। विमान आया भी, जब फाइनल टेक्निकल फ्लाइट ट्रॉयल शुरू किया गया तो 19 सीटर विमान को उड़ान भरने में बाधा आ गई। 19 की जगह 8 से 9 यात्री ही ले जा सकते हैं। रनवे पर बफर और देना होगा। इसके बाद डीजीसीए के साथ अधिकारियों की मीटिंग हुई। उसमें कहा गया कि सेफ्टी के साथ समझौता नहीं कर सकते है। जब तक संतुष्ट नहीं होंगे फ्लाइट नहीं उड़ेंगी। जमीन के लिए टाटा से बात चल रही है। टेक्निकल चीजों को समझने में समय लगेगा। अध्ययन करना होगा।

    बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर केंद्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा शनिवार को पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा दुमका से कोलकाता और रांची, बोकारो से पटना-रांची के लिए भी उड़ान के तहत विमान सेवा शुरू होगी, लेकिन दोनों जगह मामला फंस गया है। दुमका में 90 एकड़ जमीन अधिग्रहण की जरूरत है। वही बोकारो में एयरपोर्ट के पास चिमनी आ गई है। इस वजह दोनों तकनीकी मुश्किलें सामने आई है।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×