--Advertisement--

गार्ड ने हॉस्पिटल में महिला मरीज को लातों से पीटा, बाल पकड़कर घसीटा

मानसिक रूप से बीमार महिला करीब दो साल से रिम्स में रह रही हैं।

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 07:09 AM IST
गार्ड ने महिला मरीज को लातों स गार्ड ने महिला मरीज को लातों स

रांची. राज्य का सबसे बड़े अस्पताल राजेंद्र इंस्टीट‌्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) मरीजों से हैवानियत को लेकर एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बार सुरक्षा गार्ड ने महिला मरीज पूनम को लातों से पीटा। बाल पकड़कर घसीटा। जब मामला सामने आया तो रिम्स निदेशक डॉ. आरके श्रीवास्तव ने कहा कि मामले की जांच कराकर दोषी पर कार्रवाई करेंगे।

दो साल से रिम्स के ऑर्थो वार्ड के नीचे किचन के पास रह रही हैं महिला

-मानसिक रूप से बीमार पूनम करीब दो साल से रिम्स के ऑर्थो वार्ड के नीचे किचन के पास रह रही हैं।

-साइकोलॉजिस्ट अशोक कुमार की सलाह पर उसे चार बार रिनपास भेजा गया। पर रिनपास दवा देकर उसे वापस रिम्स भेज देता है।

-जब पूनम रिनपास ले जाने का विरोध करती हैं तो उसके साथ यह सलूक किया जाता है। भास्कर को यह फोटो एक पाठक ने मुहैया कराया है।

-इससे पहले 21 सितंबर 2016 को रिम्स के ऑर्थोपेडिक वार्ड में भर्ती पालमती देवी को जमीन पर ही खाना परोस दिया था।

-जब मामला उजागर हुआ तो बताया गया कि उसके पास बर्तन नहीं थे। इस पर काफी बवाल हुआ था।

खबर मीडिया में आने के बाद सीएम दास ने की कार्रवाई

वहीं, खबर के मीडिया में आने के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा- रिम्स में महिला मानसिक रोगी के साथ अमानवीय व्यवहार अक्षम्य है। ऐसा किसी भी परिस्थिति में दोबारा नहीं होना चाहिए। आरोपी गार्ड को निष्काषित कर दिया गया है। महिला को रिनपास में भर्ती करवा दिया गया है, जहां उनका इलाज जारी है। अधिकारियों को सख्त हिदायत दी गई है कि वो खुद कड़ी नजर रखें ताकि भविष्य में ऐसा न हो।

वीडियो: फैसल इकबाल।