--Advertisement--

स्टूडेंट ने हॉस्टल में फांसी लगाकर दी जान, लिखा- मम्मी-पापा मुझे माफ करना..

लड़के के साथी ने दरवाजा खोला तो अंदर विवेक रस्सी के सहारे फांसी पर लटक रहा था।

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 09:04 AM IST
मृतक विवेक केशरी। मृतक विवेक केशरी।

रांची. इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे चौपारण के विवेक केशरी (20) ने शनिवार सुबह हॉस्टल के कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। वह वर्धमान कंपाउंड के जेसी रोड स्थित एक हॉस्टल में फुफेरे भाई प्रवीण केसरी के साथ रहता था। मौके से सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है-मम्मी-पापा मुझे माफ करना। मेरी जिंदगी इतनी ही थी। मेरे जाने के बाद तुमलोग मुझसे नाराज मत होना। मेरी टेंशन से तुम लोगों को तकलीफ होती थी। मै जो बनना चाहता था, वह बन नहीं सका। इसलिए अब तुम लोगों से दूर जा रहा हूं।


प्रवीण ने बताया कि वह सुबह 10:30 बजे रजिस्ट्रेशन फीस जमा करने स्कूल गया था। लौटा तो कमरा बंद था। दरवाजा खटखटाया, पर अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। इन लाेगों ने दरवाजा खोलने के लिए छिटकनी से रस्सी बांध रखी थी। उससे दरवाजा खोला तो अंदर विवेक नारियल की रस्सी के सहारे फांसी पर लटक रहा था। नारियल की रस्सी से गर्दन पर खरोंच न आए, इसलिए उसने गर्दन पर रूमाल भी लपेट रखा था। इसके बाद उसने छात्रों और फिर लालपुर पुलिस को सूचना दी।

गॉल ब्लाडर के ऑपरेशन के बाद से था परेशान

विवेक का पिछले साल गॉल ब्लाडर का ऑपरेशन हुआ था। इसके बाद से उसके पेट में परेशानी रहती थी। इससे वह परेशान था। उसने डीएवी कडरू से 12वीं की परीक्षा 86% अंकों से पास की थी। पिता सियाराम केशरी चौपारण में एलआईसी एजेंट हैं।

X
मृतक विवेक केशरी।मृतक विवेक केशरी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..