--Advertisement--

इनकम टैक्स कमिश्नर बने तापस की संपत्ति 5 साल में नौ गुना बढ़ी, CBI ने दर्ज किया केस

एफआईआर के अनुसार, चेक पीरियड से पूर्व दत्ता के पास 52 लाख 21 हजार 9 सौ 22 रुपए की संपत्ति थी।

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 02:23 AM IST
Tapas Kumar Dutta estate increased ninefold in 5 years

धनबाद. 12 जुलाई 2017 तक रांची/हजारीबाग के प्रधान आयकर आयुक्त रहे तापस कुमार दत्ता की संपत्ति पांच सालों में नौ गुना से ज्यादा बढ़ गई। इस दौरान सरकार की ओर से उन्हें वेतन-भत्ते मद में जितना भुगतान मिला, उससे 9 करोड़ 78 लाख 61 हजार 9 सौ 71 रुपए की अतिरिक्त कमाई कर ली। उन्होंने 4.56 करोड़ से अधिक की संपत्ति बनाई, जबकि 6.23 लाख रु. से ज्यादा खर्च भी किए।

संपत्ति अर्जन और खर्च के लिए उन्होंने 10.8 करोड़ रु. से अधिक व्यय किए, जबकि इसी दौरान उनकी वास्तविक कमाई 1 .1 करोड़ रही। यह दावा है दिल्ली सीबीआई के एंटी करप्शन यूनिट वन का, जिन्होंने 12 जुलाई 2017 को रांची में दत्ता को गिरफ्तार किया था। दत्ता की गिरफ्तारी मुखौटा कंपनियों को लाभ पहुंचाने, कारोबारियों से अवैध रूप से धन लेने, इनकम टैक्स एसेसमेंट में गड़बड़ी करने और सरकारी पद के दुरुपयोग के आधार पर हुई थी। मंगलवार को दत्ता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का ताजा केस (आरसी एसी1/18ए 03) दर्ज किया गया है।

जब कमिश्नर बने, उसी पीरियड की सीबीआई ने संपत्ति जांची

तापस दत्ता का सेवाकाल 1 अप्रैल 2012 से 12 जुलाई 2017 तक रहा। दत्ता ने आयकर विभाग में 17 दिसंबर 2085 में बतौर आईटीओ सेवा आरंभ की थी। इस दौरान उनकी कोलकाता समेत कई आयकर प्रक्षेत्रों में उनकी पदस्थापना हुई। रांची में उनकी तैनाती बतौर प्रधान आयुक्त के रूप में 17 अगस्त 2015 को हुई थी। वे रांची के साथ हजारीबाग प्रक्षेत्र के भी आयुक्त थे।

जांच की शुरुआत में थे लखपति, बाद में निकले करोड़पति

एफआईआर के अनुसार, चेक पीरियड से पूर्व दत्ता के पास 52 लाख 21 हजार 9 सौ 22 रुपए की संपत्ति थी। चेक पीरियड की समाप्ति के बाद यह संपत्ति 5 करोड़ 8 लाख 92 हजार 4 सौ 57 रुपए मिली। इस दौरान उन्हें वेतन-भत्ते के रूप में 1 करोड़ 1 लाख 48 हजार 3 सौ 78 रुपए मिले। इस राशि में से उन्होंने 62 लाख 39 हजार 8 सौ 14 रुपए खर्च किए।

एक करोड़ वेतन मिला, खर्च कर दिए 10 करोड़


चेक पीरियड के दौरान दत्ता को सरकार से वेतन-भत्ते मद में 1 करोड़ 1 लाख का भुगतान हुआ, जबकि सीबीआई की जांच में मालूम चला कि उन्होंने टेलीफोन-मोबाइल बिल, मेडिकल व्यय, बिजली बिल, परिजन के साथ भ्रमण, कार बीमा के साथ बेटी की शादी और बच्चों की पढ़ाई में 6 करोड़ 23 लाख 39 हजार 8 सौ 14 रुपए खर्च किए। इसी दौरान उन्होंने 4 करोड़ 56 लाख 70 हजार 5 सौ 35 रुपए की संपत्ति भी बनाई।

X
Tapas Kumar Dutta estate increased ninefold in 5 years
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..