• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • डीसी ने किया निरीक्षण, कहा बीडीआे साहब ऐसा नहीं चलेगा
--Advertisement--

डीसी ने किया निरीक्षण, कहा बीडीआे साहब ऐसा नहीं चलेगा

उपायुक्त राजीव कुमार ने रविवार को हेरहंज बीडीओ श्रवण राम की क्लास ली। कहा कि बीडीआे साहब जिले में ऐसा नहीं चलेगा।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
उपायुक्त राजीव कुमार ने रविवार को हेरहंज बीडीओ श्रवण राम की क्लास ली। कहा कि बीडीआे साहब जिले में ऐसा नहीं चलेगा। सरकार ग्रामीणों के लिए योजनाएं चला रही है। यदि उनके बच्चे रोजगार के लिए स्कूल छोड़ रहें है तो गलत बात है। एक भी बच्चा स्कूल नहीं छोड़े, इसे हर हाल में सुनिश्चित कराएं। उपायुक्त कुमार छुट्टी के दिन हेरहंज प्रखंड दौरे में पहुंचे थे। प्रखंड के परहिया टोला में ग्रामीणों ने उपायुक्त को बताया कि टोला के बच्चे स्कूल छोड़ काम कर रहें हैं। इससे बच्चों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। इसपर उपायुक्त ने बीडीओ की जमकर क्लास ली। उन्हें कई नसीहतें भी दी। इसके पूर्व बारियातू व हेरहंज प्रखंड कार्यालय के सभागार में पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की। मौके पर डीआरडीए निदेशक संजय कुमार भगत, डीएसई मसूदी टुडू, बीडीआे श्रवण राम, बारियातू बीडीओ संजय कुमार यादव, सीओ प्रदीप कुमार महतो, प्रमुख महावीर उरांव, बीस सूत्री उपाध्यक्ष विजय गुप्ता, उपप्रमुख माे. जनबा के अलावे कई मुखिया, पंसस व वार्ड सदस्य मौजूद थे।

हेरहंज में शौचालय की स्थिति का जायजा लेते डीसी राजीव कुमार।

एक माह में प्रखंड को कुपोषण मुक्त करने के निर्देश

उपायुक्त ने यहां सीडीपीआे, सुपरवाइजर एवं आंगनबाड़ी सेविकाआें के साथ बैठक की। उनसे क्षेत्र के कुपोषण बच्चों के बारे में जानकारी ली। किसी ने बच्चों की स्थिति के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं दी। इसपर उपायुक्त ने नाराजगी भी जताई और एक माह के भीतर प्रखंड को कुपोषण के मुक्त कराने के निर्देश दिए। इसके अलावे आंगनबाड़ी केंद्रों में खराब पड़े चापाकलों को बनाने, भवन को सुंदर एवं स्वच्छ रखने, रंग-रोगन कराने, दस दिनों के अंदर पोषाहार की राशि दिलाने, लोगों को लक्ष्मी लाडली योजना का लाभ दिलाने समेत कई निर्देश दिए।

खीराखांड़ के आदिम जनजातियों की भी ली सुध

हेरहंज पहुंचे उपायुक्त ने खीराखांड़ टोला में रहनेवाले आदिम जनजाति परिवारों की भी सुध ली। बीडीआे श्रवण राम से उनके विकास के लिए चलाए जा रहे योजनाओं के बारे में जानकारी ली। बीडीओ ने बताया कि प्रखंड में ७० आदिम जनजाति परिवार निवास करते है। खीराखांड़ टोला में में निवास करने वाले आदिम जनजाति परिवारों को सरकारी सुविधा प्रदान करने में थोड़ी परेशानी आ रही है। उपायुक्त ने बीडीआे को गांव के परिवारों को रोजगार से जोडऩे एवं उनके मानसिकता में बदलाव लाने के लिए कारगर कदम उठाने के निर्देश दिए।

अनाज कम देने वाले डीलर पर होगी कार्रवाई

उपायुक्त ने बैठक के दौरान प्रखंड में संचालित जनवितरण प्रणाली व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिस जनवितरण प्रणाली दुकानदार के खिलाफ लाभुकों को कम राशन देने की शिकायत आई, उनके खिलाफ सीधी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बीडीआे व प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को लाभुकों को मानक के अनुरूप राशन दिलाने के निर्देश दिए।

आेडीएफ हेरहंज प्रखंड की खुली पोल

उपायुक्त ने हेरहंज प्रखंड में बने शौचालयों का भी निरीक्षण किया। पाया कि शौचालय निर्माण होने के बाद भी लोग उसका उपयोग नहीं कर रहे हैं। इसपर उपायुक्त ने ग्रामीणों को जागरूक कर शौचालय का उपयोग करवाने एवं अनुपयोगी शौचालयों को दुरूस्त करवाने के निर्देश दिए। कहा कि सिर्फ कागजों में प्रखंड आेडीएफ नहीं हो, बल्कि धरातल में भी वह दिखने चाहिए।