Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» विश्वासियों ने कब्रगाहों में कैंडल जला की प्रार्थना

विश्वासियों ने कब्रगाहों में कैंडल जला की प्रार्थना

जिले में मसीही समुदाय के लोगों ने रविवार को ईस्टर संडे धूमधाम से मनाया। प्रभु यीशु को क्रूस पर लटकाए जाने के बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:00 AM IST

विश्वासियों ने कब्रगाहों में कैंडल जला की प्रार्थना
जिले में मसीही समुदाय के लोगों ने रविवार को ईस्टर संडे धूमधाम से मनाया। प्रभु यीशु को क्रूस पर लटकाए जाने के बाद तीसरे दिन उनके जी उठने की खुशी में मनाए जानेवाले त्योहार पर कब्रगाहों में विशेष प्रार्थनाओं का दौर चला। विश्वासियों ने कब्रगाहों में अपने रिश्तेदारों के कब्र पर फूल मालाएं चढ़ाई, कैंडल और धूप बत्तियां भी जलाई गईं।

कब्रगाहों को एक दिन पूर्व ही अच्छे ढंग से सजाया गया था। कई जगह विशेष प्रकाश सज्जा की व्यवस्था भी की गई थी। चर्च के पुरोहितों ने पहले सामूहिक प्रार्थना कराई। इसके बाद विश्वासियों ने व्यक्तिगत तौर पर भी रिश्तेदारों की कब्र पर प्रार्थना की। लूथरन मैदान स्थित एनडब्ल्यू जीईएल चर्च में पादरी जॉन भेंगरा, निझर झरिया मिन्ज़ एक्का, झकमक नीरज एक्का व नेम्हस एक्का ने कहा कि प्रभु यीशु के जीवित होने का मतलब है कि परमेश्वर वचन है और वचन परमेश्वर है। इसके अलावा सीएनआई चर्च, कोमन कैथली चर्च, सीएनआई चर्च, रोमन कैथोलिक चर्च, पेंटीकॉस्टल चर्च, आरसी आदि चर्चों में भी अलग-अलग समयों पर प्रार्थनाओं का दौर चला। रविवार को भोर तीन बजे, चार बजे और पांच बजे से संदेश का दौर शुरू हुआ जो पौ फटने के पूर्व तक चला। लूथरन स्थित कब्रगाह में तत्कालीन नप अध्यक्ष पावन एक्का, जीवन मसीह लकड़ा, सुमन टोप्पो, मनोरमा एक्का, अनिता कुजूर, विजय लकड़ा, अमर नाथ लकड़ा, निर्मला तिर्की, आभा टोप्पो, मुनीबाला बखला, सुशीला बाडा, जयंत लकड़ा, सुषमा लकड़ा सहित सैकड़ों विश्वासी उपस्थित थे। मौके पर कोयल दल के लोगों ने प्रभु यीशु के जी उठने की खुशी पर विशेष गीत भी गाएं।

कैंडल जलाकर कब्रगाहों में रौशनी फैलाते मसीही समुदाय के लोग।

कैरो में कब्रगाहों की सफाई सजाया

कैरो | मसीही समुदाय ने प्रखंड क्षेत्र के कैरो, नवाटोली, उत्तका, नरौली, चाल्हो आदि गांवों में हर्षोल्लास के साथ ईस्टर संडे मनाया। इस अवसर पर सभी चर्चों से जुड़े मसीही समुदाय के लोगों ने कब्रगाहों की सफाई कर आकर्षक सजावट की। कब्रगाहों में मोमबत्ती जलाकर विशेष प्रार्थना की। पूरे विश्व में सुख, शांति की कामना की।

कुडू के विभिन्न चर्चों में मना ईस्टर संडे

कुडू |
ईस्टर पर्व को लेकर प्रखंड में रविवार की सुबह मसीही धर्मावलंबियों ने परिजनों के कब्रगाह पर जाकर कैंडल जलाया। उन्होंने कब्र पर फूल माला चढ़ा कर परिजनों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद एनडब्ल्यूजीएल चर्च हाटा टोली, जेम्स पीस चर्च नवाटोली समेत अन्य चर्चों में विशेष मिस्सा पूजा किया गया। एनडब्ल्यूजीएल चर्च के फादर अनूप बाड़ा ने मिस्सा अनुष्ठान संपन्न कराया।

संदेश देती पादरी व अन्य।

जीवन से निराश नहीं हों लोग : डॉ रामेश्वर उरांव

अनुसूचित जनजाति आयोग भारत सरकार के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव ने उर्सुलाइन बीएड कॉलेज पहुंच सभी शिक्षकों और प्रशिक्षु छात्राओं को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि ईस्टर संडे असत्य पर सत्य और हिंसा पर अहिंसा की जीत का दिन है। ईसाई धर्म की मान्यता के अनुसार यह ईसा मसीह के पुनर्जीवित होने का दिन है। क्षमा और दया को समर्पित ईस्टर संडे के दिन पूरे विश्व के कल्याण के लिए प्रार्थना की जाती है। ईस्टर पर्व नए जीवन का संदेश देता है। आज ही के दिन प्रभु यीशु अपने वायदे के अनुसार जिंदा हो उठे थे। उन्होंने बताया कि मनुष्य को जीवन से निराश नहीं होना चाहिए। इस मौके पर कॉलेज की प्रिंसिपल सिस्टर डॉक्टर शीला, सिस्टर डॉ. रानी, शकील अहमद, अशोक यादव, सुखैर भगत व निशिथ जायसवाल आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×