• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • कांटाटोली में बस यात्रियों को लूटनेवाले 4 िगरफ्तार
--Advertisement--

कांटाटोली में बस यात्रियों को लूटनेवाले 4 िगरफ्तार

रोड पर टॉयलेट कर रहे युवक से 600 रुपए जुर्माना वसूला, फिर 14 हजार का फोन छीना क्राइम रिपोर्टर | रांची कांटाटोली बस...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:05 AM IST
रोड पर टॉयलेट कर रहे युवक से 600 रुपए जुर्माना वसूला, फिर 14 हजार का फोन छीना

क्राइम रिपोर्टर | रांची

कांटाटोली बस स्टैंड में यात्रियों को डरा-धमका कर लूटने वाला एक नया गिरोह सक्रिय हुआ है। इसके चार सदस्यों को लोअर बाजार पुलिस ने गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया। जेल जाने वालों में डेली मार्केट के पास रहने वाला राहुल, कांके का सोहेल, कर्बला चौक का याकूब और कांटाटोली का रिंकू शामिल है। चारों को लोअर बाजार पुलिस ने दो मार्च को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया। इनके खिलाफ लोअर बाजार थाना में पीड़ित सुभाष मिंज ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। सुभाष मिंज नगड़ी के रहने वाले हैं। सुभाष से पहले ही ये उचक्के विशेष कर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को निशाना बनाते थे।

लोअर बाजार पुलिस ने सभी आरोपियों को भेजा जेल

पैसे नहीं देने पर फोन छीना और धमका कर भगा दिया

सुभाष मिंज होली के दिन कांटाटोली बस स्टैंड पास पहुंचे थे। उन्हें नगड़ी जाने के लिए गाड़ी पकड़नी थी। गाड़ी पकड़ने से पहले सुभाष मिंज को टॉयलेट लगा और वे सड़क के किनारे टॉयलेट करने लगे। इसी दौरान उनके पास सोहेल और याकूब पहले आए और उन्हें यह कहते हुए पकड़ लिया कि सड़क किनारे टॉयलेट क्यों कर रहे हो। दोनों ने सुभाष से कहा कि इसके लिए तुम्हें 600 रुपए का फाइन देना होगा। जब सुभाष ने कहा कि उनके पास एक रुपया भी नहीं है। तब सोहेल और याकूब ने उसे पकड़ लिया और किनारे ले आए। फिर उनके दो साथी राहुल और रिंकू भी आए और चारों ने मिलकर सुभाष से 14 हजार रुपए का मोबाइल फोन छीन लिया। कहा- 600 रुपए जुर्माना देने पर मोबाइल लौटाएंगे। अपना फोन वापस लेने के लिए सुभाष ने अपने एक करीबी को फोन कर 600 रुपए मंगवाए। फिर चारों को पैसे दे दिए। पैसे लेने के बाद चारों ने कहा कि अब न पैसे मिलेंगे न मोबाइल। यह कह चारों ने उन्हें भगा दिया।

पुलिस ने पहले पीसीआर को भेजा, फिर पीड़ित को लेकर तुरंत घटनास्थल पर पहुंची व उचक्कों को पकड़ा

सुभाष मिंज ने लोअर बाजार पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने फौरी कार्रवाई करते हु पीसीआर को घटनास्थल पर भेजा। फिर पुलिस सुभाष मिंज को लेकर घटनास्थल पहुंची। सोहेल और याकूब उन्हें वहीं मिल गए, जिन्हें पीड़ित ने पहचान लिया। उन्हें देखते ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। फिर दोनों की निशानदेही पर पर रिंकू और राहुल भी पकड़े गए।